धारा 370 के बाद मोदी सरकार ने कश्मीर को लेकर लिया बड़ा फैसला, दूसरा मास्टरस्ट्रोक

जैसा कि हम सभी लोग जानते हैं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश को सुदृण और विकशित बनाने के लिए नीत नए-नए कार्यों को व्यस्थित तरह से कर रहें हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का सबसे बड़ा फैसला धारा 370 को खत्म करने का था. ऐसे ही कई और बड़े – बड़े कार्यो को मोदी जी ने देश हित में करने के लिए फैसला लिया है. आपको बता दें कि धारा 370 हटाने के बाद मोदी जी ने एक और बड़ा फैसला लिया हैं. आईये उस फैसले के बारे में जानते हैं.

बता दें कि जम्मू – कश्मीर ने प्रदेश की दो राजधानीयों के बीच के दरबार मूव की परम्परा को खत्म कर दिया गया है. दरबार मूव नाम की ये अधिकारिक परम्परा 149 वर्ष पुरानी है. संपदा विभाग के आयुक्त सचिव एम राजू की ओर से जारी आदेश में स्पष्ट तौर पर ये कहा गया कि श्रीनगर और जम्मू में अधिकारियों और कर्मचारियों के आवासीय आवंटन को रद्द करने की अनुमति दे दी गई है.

दरबार मूव की परम्परा ये है कि राजभवन, नागरिक सचिवालय और कई अधिकारी वर्ष में दो बार जम्मू और श्रीनगर स्थान्तरित होते थे. गर्मी के मौसम में जम्मू से श्रीनगर और वहीं ठण्ड के मौसम में श्रीनगर से जम्मू आ जाते हैं. वहां ऐसा इसलिए होता था क्योकि जम्मू और कश्मीर की दो राजधानियां हैं. गर्मी के समय की राजधानी कश्मीर है और ठण्ड के समय कि राजधानी जम्मू है. इसी वजह से जम्मू के कर्मचारियों को श्रीनगर आवास आवंटित थे और श्रीनगर के कर्मचारियों को जम्मू में आवास मिले हुए थे. आपको बता दें कि इसी संदर्भ में उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने दिनांक 20 जून को कहा था कि चुकी प्रशासन ने ई -ऑफिस के कार्य को पूर्ण कर लिया है इसलिए सरकारी कार्यलयों के इस दरबार मूव की प्रथा को जारी रखने की अब कोई जरूरत नहीं है. इसी के साथ ही आदेश में ये भी कहा गया है कि अधिकारी और कर्मचारियों को 21 दिनों के अंदर दोनों राजधानी शहरों में सरकार द्वारा मिले हुए आवासों को खाली करना होगा.

आपको बता दें कि दरबार मूव नाम की इस परम्परा को खत्म करने के इस निर्णय से राजकोष को हर वर्ष 200 करोड़ रूपए की बचत होगी. इस बचत राशि का उपयोग किसी अन्य विकास कार्यों में किया जायेगा.