सिद्धू को पार्टी प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने को लेकर थम नहीं रहा विवाद, मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने उठाया ये बड़ा कदम

पंजाब में भले ही अगले साल विधानसभा चुनाव होने वाले है लेकिन पंजाब काँग्रेस में मची आपसी बनी अनबन लगातार सुर्खियों में बनी हुई है दरअसल पंजाब में चुनावों से पहले ही मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और नवजोत सिंह सिद्धू के बीच जारी तनाव अभी भी बना हुआ है. वही अब नवजोत सिंह सिद्धू को पंजाब काँग्रेस का प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने की ख़बर के बाद ही बवाल और तेज हो गया है. हालांकि मालूम हो कि अभी तक इस मामले पर काँग्रेस आलाकमान ने कोई ऐलान नहीं किया है.

वही जानकारी के लिए बता दें कि नवजोत सिंह सिद्धू को पंजाब काँग्रेस का प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने की ख़बर से कैप्टन अमरिंदर सिंह और उनके समर्थक पक्ष में नहीं है और यही कारण है दोनों ही नेताओं के बीच खींचतान जारी है और दोनों ही नेताओं की अलग अलग तस्वीरे भी सामने आ रही है. बता दें कि जहां एक तरफ नवजोत सिंह सिद्धू ने पंजाब में कांग्रेस के विधायकों और नेताओं के साथ नाश्ता पानी किया तो  वहीं दूसरी तरफ कैप्टन अमरिंदर सिंह दिल्ली में कांग्रेस सांसदों की टीम उतार रहे है.

ख़बरों के अनुसार ये सांसद सोनिया गांधी से मिलकर अपील करेंगे कि नवजोत सिंह सिद्धू को प्रदेश अध्यक्ष ना बनाया जाये. ग़ौरतलब है कि बीते कुछ समय से लगातार दोनों के बीच तनाव बना हुआ है वही कयास लगाए जा रहे थे कि रावत से मिलने के बाद पंजाब काँग्रेस में कलह शांत हो सकता है लेकिन ताजा हालात कुछ और ही बयां कर रहे हैं