किसान आन्दोलन ने लिया नया रूप, दिल्ली के अलग अलग इलाकों में बढ़ायी गयी सुरक्षा

केंद्र सरकार के नए कृषि कानून बिलों को लेकर पिछले साल से ही देश में विरोध प्रदर्शन जारी है और दिल्ली के बॉर्डर पर किसानों का आन्दोलन जारी है. दरअसल अभी तक सरकार और किसानों के बीच कई दौर की वार्ता हो चुकी है लेकिन न तो किसान सरकार की सुनने को तैयार है और न ही सरकार. जिस वजह से दोनों के न्बीच टकराव बना हुआ है.

वही आज से किसान आन्दोलन का नया पड़ाव शुरू हो रहा है. जानकारी के लिए बता दें कि जंतर मंतर पर 200 के करीब किसान प्रदर्शन करेंगे. इसके अलावा बता दें कि सिंघु, टिकरी और गाजीपुर बॉर्डर से बसों में भरकर किसानों का जंतर-मंतर पहुंचना जारी है. दूसरी तरफ प्रदर्शन कर रहे किसानों को लेकर कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि हम किसानों के साथ बातचीत करने को तैयार हैं, हम पहले भी बात करते रहे हैं. मोदी सरकार किसान हितेषी है.

वही भारी संख्या में अलग अलग इलाकों से किसान दिल्ली पहुँच रहे है जिसे देखते हुए सुरक्षा बढ़ा दी गयी है. वही किसान यहां पर सुबह 11 बजे से लेकर शाम 5 बजे तक संसद लगा पाएंगे.  वही किसान नेता राकेश टिकैत का कहना है कि हमारा संघर्ष पिछले आठ महीने से चल रहा है. हम शांतिपूर्ण तरीके से अपनी बातों को सरकार के सामने रखना चाहते हैं. इसके अलावा टिकैत ने कहा कि जबतक संसद का सत्र चलेगा, हम लोग जंतर-मंतर पर ही अपनी किसान संसद चलाएंगे.