पंजाब कांग्रेस में कलह के बीच अब नवजोत सिंह सिद्धू ने की ये मांग

पंजाब में अगले साल विधानसभा चुनाव होने है. वही पंजाब कांग्रेस में कलह कम होने का नाम नहीं ले रही है. दरअसल पता हो कि नवजोत सिंह सिद्धू लगातार मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के खिलाफ मो’र्चा खोले हुए हैं. जिस वजह से दोनों के बीच तनाव बना हुआ है और इसी वजह से पंजाब से लेकर दिल्ली तक हलचल मची हुई है.

वही अब एक बार फिर से नवजोत सिंह सिद्धू ने पंजाब सरकार को सुझाव देते हुए एक ट्वीट किया है. जिसकी वजह से फिर से पंजाब में हलचल तेज़ हो गयी है. दरअसल पंजाब में बिजली संकट को लेकर बयानबाजी जारी है और इसी बीच अब नवजोत सिंह सिद्धू बिजली बिल का रास्ता निकालते हुए ट्वीट किया है. सिद्धू ने लिखा कि “आइए हम कांग्रेस हाईकमान द्वारा लोगों के हित में तैयार 18 प्वाइंट वाले एजेंडा से शुरू करें और पंजाब विधानसभा में नए विधान के माध्यम से बिना किसी निश्चित शुल्क के नेशनल पावर एक्सचेंज के अनुसार दरें तय कर बादल-हस्ताक्षरित बिजली खरीद समझौतों से छुटकारा पाएं!”  

इसके अलावा उन्होंने एक और ट्वीट किया जिसमें लिखा कि पंजाब सरकार पहले से ही नौ हजार करोड़ की सब्सिडी देती है लेकिन हमें घरेलू और इंडस्ट्रियल उपभोक्ताओं को 10-12 रुपये प्रति यूनिट सरचार्ज के बजाय 3-5 रुपए प्रति यूनिट की दर से बिजली देनी चाहिए. साथ ही 24 घंटे की सप्लाई, कोई पावर कट नहीं और 300 यूनिट तक फ्री में बिजली दी जानी चाहिए. यह निश्चित रूप से प्राप्त करने योग्य है.” जाहिर है कि पंजाब में बिजली संकट बढ़ता ही जा रहा है साथ ही पंजाब सरकार की मुश्किलें भी.