केंद्र सरकार ने मछली पालक किसानों के लिए पेश की ये ऐप, जानें कैसे करेगी काम और इसका उद्देश्य

मछली पालक किसानों की लिए ऐप

मछली पालक किसानों की लिए ऐप

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने मछली पालक किसानों की समस्याओं को देखते हुए एक अच्छी पहल की है। केंद्रीय मत्स्य, पशुपालन और डेयरी मंत्री गिरिराज सिंह (Griraj Singh) ने ऑनलाइन पाठ्यक्रम मोबाइल ऐप 'मत्स्य सेतु' को पेश किया। इस ऐप के माध्यम से किसानों को स्वच्छ जल में मछली पालन के तौर तरीकों को लेकर आधुनिक जानकारी दी गई है। सरकारी विज्ञप्ति के अनुसार इस ऐप को भाकृअनुप- केंद्रीय मीठाजल जीवपालन अनुसंधान संस्थान (भाकृअनुप -सीफा), भुवनेश्वर द्वारा हैदराबाद स्थित राष्ट्रीय मत्स्य विकास बोर्ड (National Fisheries Development Board) के वित्त पोषण समर्थन से विकसित किया गया है।

इस उद्देश्य से लॉन्च की गई ये ऐप

विज्ञप्ति के अनुसार इस ऑनलाइन पाठ्यक्रम ऐप का उद्देश्य देश के जलकृषकों के लिए नवीनतम स्वच्छ जल कृषि प्रौद्योगिकियों का प्रसार करना है। मत्स्य सेतु ऐप में प्रजाति-वार / विषय-वार स्व-शिक्षण ऑनलाइन पाठ्य सामग्रियां हैं। इनमें व्यावसायिक रूप से महत्वपूर्ण मछलियों के प्रजनन, बीज उत्पादन और पालन-पोषण संवर्धन पर बुनियादी अवधारणाओं और व्यावहारिक प्रदर्शनों की व्याख्या की गयी है।

पीएम मोदी पिछले साल की थी शुरुआत

इस अवसर पर सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 20,050 करोड़ रुपये के निवेश के साथ मत्स्य पालन क्षेत्र के टिकाऊ और जिम्मेदार विकास के लिए सितंबर 2020 में प्रमुख योजना प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना (PMSY) की शुरूआत की थी। पीएमएसवाई के तहत अतिरिक्त 70 लाख टन मत्स्य उत्पादन, एक लाख करोड़ रुपये मत्स्य निर्यात, अगले पांच वर्षों में 55 लाख रोजगार सृजन आदि के महत्वाकांक्षी लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए सरकार और हितधारकों के बीच सहयोगात्मक और ठोस प्रयासों के साथ बहुआयामी रणनीतियों की आवश्यकता है।