आयुर्वेद होगा अब विश्व में टॉप पर, लिया मोदी सरकार ने बड़ा फैसला

नरेंद्र मोदी जी जबसे देश के प्रधानमंत्री बने हैं तबसे देश कि उन्नति के लिए अनेकों कार्य कर कर रहें हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का ध्यान हर छोटे से लेकर बड़े कार्यों को बढ़ावा देने की दृष्टि से किया जाता है. इसी कड़ी को आगे बढ़ाते हुए केंद्र सरकार ने आज दिन बुधवार को कैबिनेट मीटिंग की गई है. बता दें कि इस कैबिनेट मीटिंग में कई महत्वपूर्ण फैसले लिए गये हैं.

इसी के साथ ही कैबिनेट मीटिंग में सरकार की ओर से आत्मनिर्भर भारत पर अधिक बल दिया गया है और आयुष मिशन को भी तीव्र करने की बात कही गई है. सरकार ने विशेष तौर पर फैसला लेते हुए कहा है कि अब राष्ट्रीय आयुष मिशन को वर्ष 2021 – 22 से लेकर 2025 – 26 तक बढ़ा दिया गया है. वहीं इसी समय इस आयुष मिशन को सफल बनाने के लिए कुल 4607 करोड़ रुपये खर्च किये जायंगे.

आपको बता दें कि केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने सरकार के इन फैसलों के बारे में विस्तृत पूर्वक जानकारी दी है. केन्द्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने बताया है कि भारत सरकार पांच साल के अंदर इस मिशन पर 4607 करोड़ रूपए खर्च करेगी. इसमें सरकार की ओर से पुरे देश में 12 हजार आयुष हेल्थ वेलनेश खोलने की तैयारी की गई है. वहीं इसी के साथ ही 6 आयुष कॉलेज, 12 पोस्ट ग्रेजुएट कॉलेज इंस्टिट्यूट खोलने पर भी सहमती जताई गई है. जानकारी के मुताबिक ये भी पता चला है कि 10 अंडर ग्रेजुएट इंस्टिट्यूट के इंफ्रास्ट्रक्चर को तैयार करने पर भी विशेष ध्यान दिया जायेगा. इतना ही नहीं 36 पचास बेड वाले आयुष अस्पतालों का भी निर्माण किया जायेगा.