फिर से करीब आ रहे है शिवसेना और बीजेपी? संजय राउत के इस बयान ने बढ़ाई पवार की टेंशन

आज महाराष्ट्र में कौन पूर्ण रूप से किसके साथ में है ये कोई भी नही जानता है. कही न कही इसको लेकर के लोगो के मन में संशय भी अच्छा ख़ासा बना हुआ ही रहता है और ये हम लोग भी जानते है मगर सबसे बड़ी बात यहाँ पर ये है कि किस तरह से चीजे भविष्य में होगी ये कोई नही जानता है. अभी के लिए तो नेताओं के बयान के आधार पर सिर्फ अंदाजे ही लगाये जा रहे है और अभी का अंदाजा दुबारा से भाजपा और शिवसेना के मिलन का लगाया जा रहा है.

संजय राउत ने कहा, हमारा और बीजेपी का रिश्ता आमिर और किरण राव जैसा
शिवसेना के सुर अभी हाल ही में भाजपा को लेकर के बदलने लगे है और कुछ बाते राउत ने भी कही है जो एक बार के लिए तो मानो हजम ही न हो. जब संजय राउत से भाजपा के साथ दुबारा जाने या न जाने के ऊपर सवाल हुए थे तो संजय राउत ने कहा कि हमारा रिश्ता भारत पाकिस्तान की तरह नही है बल्कि आमिर खान और किरण राव के जैसा है. यानी चाहे दोनों अलग हो गये है लेकिन अभी भी दोनों के बीच में अपनापन और प्रेम कायम है.

बात सिर्फ यही पर ही नही रूकती है. खुद देवेन्द्र फडनवीस भी यही कहते हुए नजर आये है कि शिवसेना हमारी कोई शत्रु नही है. राजनीति में वैचारिक मतभेद होते रहते है और ये कोई स्थायी नही होता है. कही न कही दोनों तरफ से ही ये संकेत मिलने लगे है कि दोनों एक साथ आ सकते है और इसके पीछे की वजह है बीएमसी के चुनाव.

शिवसेना अच्छे तरीके से जानती है कि बिना बीजेपी के मदद के उसे सत्ता खोनी पड़ेगी और ऐसे में वो बीएमसी को हाथ से जाने से बचाने के लिए साथ में आ सकती है. अभी इस पर खुलकर कुछ भी कहा नही गया है लेकिन जल्द ही इस पर आधिकारिक बाते भी देखने में आने लगेगी इस बात में कोई भी संशय नही है.