दलाई लामा को जन्मदिन की शुभकामनायें देने के बाद अब पीएम मोदी ने वियतनाम के नए पीएम को दी बधाई, बौखला जाएगा चीन

भारत और चीन के बीच तनाव हाल के दिनों में भले ही कम हुआ हो लेकिन भारत की रणनीति चीन को ज्यादा तरजीह देने की नहीं है. हाल ही में पीएम मोदी ने चीन को दो ऐसे झटके दिए जिससे उसका भड़कना तय है. पहले तो पीएम मोदी ने दलाई लामा को उनके जन्मदिन पर उन्हें शुभकामनाएं दी. उसके बाद वियतनाम के नए पीएम फाम मिन्ह चीन्ह को भी बधाई दी और उन्हें भारत आने का न्योता भी दे दिया. फाम मिन्ह चीन्ह वियतनाम के पूर्व सुरक्षा अधिकारी और वहां की कम्युनिस्ट पार्टी के नेता हैं. अबसे ठीक एक हफ्ते पहले  करीब एक हफ्ते पहले चीन की सत्ताधारी कम्‍युनिस्‍ट पार्टी ऑफ चाइना की स्‍थापना का शताब्दी समारोह था लेकिन पीएम मोदी ने न तो कोई ट्वीट किया और न बधाई दी.

पीएम मोदी ने फाम मिन्ह चीन्ह को पीएम बनने की बधाई देने की जानकारी ट्विटर पर देते हुए कहा, ‘वियतनाम के पीएम एच. ई. फाम मिन्ह चीन्‍ह के साथ फोन पर बात की. हमने व्यापक रणनीतिक साझेदारी के सभी पहलुओं की समीक्षा की. भारत-प्रशांत के लिए साझा दृष्टिकोण को दोहराया. यूएनएससी सहित निकट सहयोग बनाए रखने पर सहमति जताई.’

चीन और वियतनाम के बीच समुद्री क्षेत्र को लेकर लम्बे वक़्त से विवाद है. दोनों देशों के बीच 1979 में यु’द्ध भी हो चुका है. चीन ने उत्तरी वियतनाम के कुछ हिस्सों पर कब्जा किया था. जिसके बाद चीन और वियतनाम के बीच ल’ड़ाई शुरू हो गई. उस वक़्त चीनी फ़ौज बहुत ताकतवर फ़ौज थी. भारत को 1962 के यु’द्ध में हारने के बाद चीनी सेना को लगा कि छोटे से देश वियतनाम को आसानी से हरा देंगे लेकिन उसकी सोच गलत साबित हुई और बुरी हार का सामना करना पड़ा. एक महीने तक चले यु’द्ध के बाद चीनी सैनिक मैदान छोड़ कर भाग खड़े हुए थे.