उत्तराखंड से तीरथ सिंह रावत की विदाई ने बंगाल में ममता बनर्जी की उड़ाई नींद, जानिए क्या है वजह

उत्तराखंड में नए CM को लेकर हलचल मचना शुरू हो गयी है. दरअसल शुक्रवार को वर्तमान मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात कर इस्तीफे दे दिया. जिसके बाद से ही नए CM के नाम को लेकर चर्चा शुरू हो गयी है. हालाँकि बीजेपी विधायक दल की अहम बैठक में आज उत्तराखंड के नए CM के नाम का ऐलान हो गया है. जानकारी के लिए बता दें कि बीजेपी विधायक पुष्कर सिंह धामी उत्तराखंड के नए सीएम बनने वाले है. बता दें कि बीजेपी विधायक दल की बैठक में उनके नाम पर मुहर लगायी गयी है.

वही दूसरी तरफ बता दें कि बंगाल में ममता बनर्जी के लिए तीरथ सिंह रावत का इस्तीफा सिरदर्द बन गया है. जानकारी के लिए बता दें कि जिस वक्त तीरथ सिंह रावत ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी उस समय वो विधानसभा के सदस्य नहीं थे और 6 माह के अन्दर उनका विधायक बनना जरुरी था लेकिन कोरोना काल की वजह से उपचुनाव नहीं हो पाए और संवैधानिक संकट की वजह से उन्हें इस्तीफा देना पड़ा. वही हाल अब बंगाल में ममता बनर्जी का होता हुआ दिखाई दे रहा है. क्यूंकि ममता बनर्जी भी विधानसभा सदस्य नहीं है और इसी वजह से अगर उपचुनाव में देरी होती है तो ममता बनर्जी को भी CM पद से हाथ धोना पड़ सकता है.

दरअसल बता दें कि भारतीय संविधान का अनुच्छेद 164 (4) के अनुसार मुख्यमंत्री या मंत्री अगर छह महीने तक राज्य के विधानमंडल का सदस्य नहीं है, तो उस मंत्री का पद इस अवधि के साथ ही समाप्त हो जाएगा. जाहिर है कि अगर कोरोना के चलते बंगाल में उपचुनाव नहीं हुए तो ममता बनर्जी के सामने भी तीरथ सिंह रावत जैसा संवैधानिक संकट खड़ा हो सकता है.