कृषि कानून: किसान और सरकार में रार, टिकैत बोले ‘बिना कंडीशन के हो बात’

केंद्र सरकार के नए कृषि कानूनों को लेकर पिछले साल से जारी किसान आन्दोलन खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है. जिस वजह से सरकार की परेशानी भी बनी हुई है. हालाँकि सरकार और किसानों के बीच अभी तक कई दौर की वार्ता हो चुकी है लेकिन अभी तक कोई हल नहीं निकल पाया है. वही किसान भी अपनी जिद पर अड़े हुए है. इस बीच किसान आन्दोलन को लेकर एक बड़ी खबर सामने आ रही है.

जानकारी के लिए बता दें कि केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने बीते दिन बयान दिया था कि सरकार कृषि कानूनों को वापस नहीं लेगी, लेकिन आंदोलनकारी किसानों के साथ बातचीत को तैयार है. जिस पर अब किसान नेता राकेश टिकैत ने बड़ा बयान दिया है. किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि सरकार चाहे ला’ठी-डं’डे का इस्तेमाल करे, लेकिन जो भी बात होगी वो बिना किसी कंडीशन के होगी.

इसके अलावा टिकैत ने कहा कि सरकार का जो ताज़ा प्रस्ताव आया है, वो शर्तों के साथ आया है. सरकार बात करने को कह रही है, लेकिन ये भी कह दिया कि कानून वापस नहीं होगा. हमने कोई श’र्त नहीं लगाई है, अगर कानू’न वापसी पर चर्चा होती है तो हम बातचीत शुरू करना चाहते हैं. इसके अलावा टिकैत ने ये भी कहा कि सरकार किसी पार्टी की होती तो जरूर बात करती, लेकिन सरकार को कंपनियां चला रही हैं और देश को लू’टने का प्लान कर रही हैं. अब देश की जनता को सड़क पर निकलना होगा और लु’टेरो को भगाना होगा. गौरतलब है कि पिछले साल से लगातार किसान आन्दोलन पर बैठे हुए है.