जिस आईपीएस अधिकारी से खौफ खाते हैं अपराधी,अब बन चुकी हैं बॉलीवुड की हिरोइन

आपने बॉलीवुड की फिल्मों में की स्टार्स को पुलिस अधिकारी का किरदार निभाते हुए देखा होगा कि लेकिन क्या कभी आपने एक किसी आईपीेएस अधिकारी को फिल्मों में काम करते देखा है , वैसे तो ये बात सुनकर आपको यकीन नहीं हुआ होगा लेकिन ये सच बात है कि आईपीएस अधिकारी शिमाला प्रसाद देश की सेवा ही नहीं करती बल्कि ये फिल्म जगत में भी अपना योगदान दे चुकी हैं.

सिमारा प्रसाद ने अपने जीवन में कई अपलब्धियां हासिल है.इन्होंने अपने परिवार के साथ साथ पूरे देश का नाम रोशन किया. इनके नाम सुनते अपराधी भी खौफ खाते थे.जानकारी के लिए बता दें कि  आईपीएस अधिकारी शिमाला ने  मध्यप्रदेश के डिंडौरी में एक एसपी के तौर पर नक्सल प्रभावित क्षेत्र में अपनी एक अलग पहचान बनाई है.

इनका जन्म 8 अक्टूबर 1980 भोपाल में था और इ्न्होंने  स्‍टूडेंट फॉर एक्‍सीलेंस से बीकॉम और बीयू से पीजी करके पीएससी परीक्षा पास की है. बचपन से ही सिमाला को डांस और एक्टिंग का शौक रहा है.स्कूल के दौरान भी वे डांस व नाटकों में हिस्सा लेती रही हैं.

एक इंटरव्यू के दौरान सिमाला प्रसाद ने कहा था कि उन्होंने कभी सोचा नहीं था कि उन्हें सिविल सर्विस में जाना है. लेकिन घर का माहौल देखकर मेरे अंदर आईपीएस बनने की चाहत आई और मुझे लगा कि देश की सेवा से बड़ा कोई और कार्य नहीं हो सकता. बता दें कि सिमाला प्रसाद डॉ भागीरथ प्रसाद की बेटी हैं जो कि पूर्व आईपीएस व सांसद रह चुके हैं. इसके साथ ही उनकी मां भी  मेहरुन्न‍िसा परवेज जानी-मानी साहित्यकार हैं, जिन्हें पद्मश्री से नवाजा जा चुका है

सिमाला प्रसाद की बॉलीवुड फिल्मों में काम करने की एक कहानी है कि इनकी मुलाकात दिल्ली में फिल्म निदेशक जैगाम से उनकी मुलाकात हुई थी. निर्देशक जैगाम अपनी फिल्म अलिफ के एक किरदार की तलाश कर रहे थे तभी इन लेडी सिंगम को चांस मिल गया. फिल्म अलिफ समाज को एक बहुत अच्छा संदेश देती है.