अफगान उपराष्ट्रपति ने बताई पाकिस्तान की औकात, सोशल मीडिया पर भारतीय सेना के सामने पाकिस्तान के सरेंडर की तस्वीर की शेयर

पाकिस्तान और अफगानिस्तान के बीच विवाद दिन पर दिन बढ़ता ही जा रहा है. अफगानिस्तान ने साफ-साफ कहा है कि तालिबान को पाकिस्तान की सेना पूरी तरह से साथ दे रही है.तालिबान की तरफ से पाकिस्तान की सेना अफगानिसितान के खिलाफ लड़ने के लिए पहुंच गई है. वहीं अब अफगानिस्तान के उप-राष्ट्रपति अमरुल्लाह सालेह का एक ट्टीट वायरल हो रहा है जिसके बाद पाकिस्तान और तालिबान पानी -पानी हो गए हैं.

दरअसल इस ट्टीट में अफगान के उपराष्‍ट्रपति ने भारत की एक तस्‍वीर पोस्‍ट कर पाकिस्‍तानी ट्रोल आर्मी की बोलती बंद कर दी। ये तस्वीर 1971 के जंग के दौरान की है जब पाकिस्तनियों को भारतिय सेना के सामने आत्‍मसमर्पण करना पड़ा था, इस तस्वीर को पोस्ट करने के साथ ही अमरुल्‍ला सालेह ने एक कैप्शन भी लिखा है  ‘हमारे इतिहास में ऐसी कोई तस्‍वीर नहीं है और कभी ऐसी तस्‍वीर होगी भी नहीं। हां जब कल रॉकेट हमारे ऊपर से गुजरा था और फिर वे कुछ ही दूरी पर जाकर गिरा तो मैं कुछ सैकेंड के लिए हिल तो गया था. प्रिय पाकिस्‍तानी ट्टिटर हमलावरों तालिबान और आतंकवाद कभी भी आपके उस घाव पर कभी मरहम नहीं लाएगा, जो घाव आपको ये तस्वीर देगी.

बता दे कि सालेह के इस ट्टीट को करते ही ये लगातार वायरल हो रहा है इसे अभी तक 5 हजार से ज्यादा लोग रीट्टीट भी कर चुके हैं. इसके साथ ही इसे 18 हजार से ज्यादा लोगों ने पसंद किया है.बताया जा रहा है कि इस ट्टीट के बाद पाकिस्तान को तीखी मिर्ची तो लगी है.सोशल मीडिया पर सालेह का ये ट्वीट वायरल हो गया है और अब तक 5 हजार से ज्‍यादा रीट्वीट हो चुका है। वहीं 18 से ज्‍यादा लोगों ने इसे लाइक किया है। इस ट्वीट के बाद पाकिस्‍तानियों को तीखी मिर्ची भी लगी। 

आपको बता दें कि अफगानिस्तान का कहना है कि तालिबान पाकिस्तान का समर्थन लेकर चुई हुई सरकार को सत्ता से बेदखल करना चाह रहा है.इतना ही नहीं तालिबान ने कल अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में राष्ट्रपति आवास को निशाना बनाते हुए तीन रॉकेट दागे थे। इस हवले के पीछे पाकिस्तान का हाथ बताया गया है. अफगान के इस ट्टीट के जरिए साफ-साफ पता चल रहा है कि अफगान की सेना तालिबान को परास्त करने में बिल्कुल भी पीछे नहीं हटेगी.