‘मोदी मॉडल’ के तर्ज पर हो सकता है CM योगी के कैबिनेट का विस्तार

UP में अगले साल विधानसभा चुनाव होने है. जिसके लिए अभी से ही सियासी हलचल शुरू हो गयी है. वही दूसरी तरफ चुनावों से पहले CM योगी के मंत्रिमडल में बड़ा बदलाव देखने को मिल सकता है. वही खबरों के मुताबिक कहा जा रहा है कि योगी कैबिनेट का विस्तार भी उसी मॉडल पर किया जा सकता है जैसे केंद्र में मोदी कैबिनेट का हुआ है.

जिसमें जातीय और क्षेत्रीय समीकरण के साथ साथ कई नए चेहरों को भी मौका दिया जा सकता है. मालूम हो कि मोदी कैबिनेट में इस बार कई नये चेहरों को जगह दी गयी है. वही माना जा रहा है कि योगी के कैबिनेट में उन नेताओं को भी जगह मिल सकती है जिन्हें केन्द्रीय कैबिनेट में नहीं मिली है. ताकि बिगड़े हुए संतुलन को फिर से ठीक किया जा सके और पार्टी को और मजबूत किया जा सके.

जाहिर है कि अगले साल होने वाले चुनावों को ध्यान में रखते हुए ही योगी के कैबिनेट का विस्तार किया जायेगा. साथ ही साथ इस कैबिनेट में ब्राह्मण चेहरे को भी जगह दी जा सकती है. क्यूंकि हाल ही में सपा, बसपा और कांग्रेस पार्टी ने ब्राह्मण समुदाय को लुभाने की कोशिश की है ऐसे में बीजेपी के लिए ब्राह्मण चेहरे को योगी कैबिनेट में शामिल करना बेहद जरुरी हो जाता है.