Sunday Special : स्टडी में हुआ खुलासा- कोरोना का टीका लगवाने के बाद भी लोग हो रहे संक्रमित, इस वजह से फैल रहा संक्रमण

कोरोना वैक्सीन

कोरोना वैक्सीन

नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस महामारी ने भारत ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया को ही हिला कर रख दिया है। देश की ही बात करें तो इस घातक बीमारी की दूसरी लहर ने जो तबाही मचाई है उन बुरी यादों से जूझ पाना हर किसी के लिए मुश्किल रहा है। हालांकि अब दूसरी लहर का प्रकोप तो कम हुआ है मगर अब तीसरी लहर ने सरकार की और साथ ही लोगों की परेशानियों को बढ़ा दिया है। इस बीमारी पर नियंत्रण पाने के लिए वैक्सीनेशन अभियान ने अहम भूमिका निभाई है। सरकार बार-बार इस बात पर जोर दे रही है कि कोरोना से बचना है वैक्सीन अवश्य लगवाएं, लेकिन देश में कुछ ऐसे भी मामले सामने आ रहे हैं जो टीका लगवाने वाले लोगों को भी संक्रमण हो रहा है। इसी समस्या को देखते हुए Indian Council of Medical Research ने एक राष्ट्रव्यापी स्टडी की थी, जिसमें संक्रमण फैलने की वजह के बारे में अहम जानकारी मिली है। आइए आपको बताते हैं क्यों टीका लगवाने वालों में भी संक्रमण का खतरा बढ़ रहा है।

Delta Varient एक बड़ी वजह

डेल्टा वैरिएंट (Delta Varient) देश में कोरोना की दूसरी लहर (Corona Virus Second Wave) का कारण बना यही वैरिएंट देश में अब भी उन लोगों को अपनी चपेट में ले रहा है वैक्सीन लगवा ली है। ये बात ICMR की स्टडी में सामने आई है। इस स्टडी का नाम है, ब्रेकथ्रू इन्फेक्शन (Break Through) यानी टीकाकरण के बाद हुए संक्रमण के मामलों की पड़ताल। Breakthroug Infection सबसे बड़ा और पहला राष्ट्रव्यापी अध्ययन है, जो 17 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में किया गया था।

कोरोना के दोनों टीके लगवा चुके लोगों पर किया गया अध्ययन

Indian Council of Medical Research ने ऐसे 677 संक्रमित (677 Corona Patients) लोगों के Sample इकठ्ठे किए थे जिन्हें पहली या दोनों डोज लग चुकी है। इनमें 604 मरीजों को कोविशील्ड (Covishield), 71 को कोवैक्सीन (Covaccine) और दो को साइनोफार्म टीका (Cyano Pharma Vaccine) लगा था। स्टडी में पता चला कि 677 में से 86.09 % मामलों में संक्रमण की वजह कोरोना वायरस का Delta Varient था। हालांकि महज 9.8% मामलों में ही मरीजो को Hospital में भर्ती करने की आवश्यकता हुई, सिर्फ 0.4% मामलों में मरीजों की इस बीमारी के कारण मौत हुई।

अब तक कितने लोग लगवा चुके हैं टीका

अध्ययन में ये भी कहा गया है कि अगर कोरोना की भयावह तीसरी लहर (Third Wave of Corona Virus) को रोकना है तो देश के लोगों का जल्द से जल्द टीकाकरण अभियान (vaccination Campaign) में भाग लेना होगा। बता दें कि अभी तक देशभर में कुल 39 करोड़ 53 लाख 43 हजार 767 कोरोना वैक्सीन की डोज लगाई जा चुकी है। जिसमें 31 करोड़ 61 लाख 16 हजार 189 लोगों को पहली और 7 करोड़ 92 लाख 27 हजार 578 लोगों को कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज लगाई गई है।