UP का वो मुख्यमंत्री जिसके नेतृत्व में प्रदेश में भगवा सियासत की धारा को तेज धार मिली

UP में भले ही अगले साल चुनाव होने है लेकिन वहां की सियासत मे हलचल अभी से ही शुरू हो चुकी है. लेकिन इस बार का चुनाव UP में थोड़ा खास भी है. क्यूंकि UP के वर्तमान CM योगी आदित्यनाथ का डंका जो विदेशों तक में सुनने को मिलता है. दरअसल UP में CM योगी के नेतृत्व में बीजेपी की सरकार को चार साल हो चुके है और इन चार सालों में जहां एक तरफ CM योगी ने अपने कार्यों से UP में बदलाव को शुरू किया है. उतना ही हिन्दुत्व को भी मजबूत किया है.

दरअसल मालूम हो कि CM योगी हिन्दुत्व की जिस तरह पूजा करते है वो सभी को दिखाई देता है और यही कारण है कि UP आज भगवा से रंगा हुआ है.CM योगी ने इन चार सालों में जहां अयोध्या से लेकर काशी तक, लव जिहाद से लेकर CAA के खिलाफ प्रदर्शनकारियों से निपटने और माफियाओं पर शिकंजा कसने तक ये साबित किया कि प्रदेश में कानून सबसे ऊपर है.

इतना ही नहीं आज बीजेपी के बड़े नेताओं मे शुमार CM योगी का प्रभाव लोगों पर दिखाई देता है और यही कारण है कि UP में हिन्दुत्व और CM योगी का प्रभाव साफ़ तौर पर देखने को मिल रहा है. वही CM योगी के हिंदुत्व के एजेंडे को बाकी राज्यों से जोड़कर भी देखा जा सकता है. इतना ही नहीं उनकी हिंदुत्व की राजनीति की राह पर मध्य प्रदेश, हरियाणा, हिमाचल जैसे बीजेपी शासित राज्य भी चलते दिखे हैं. मालूम हो कि संघ परिवार और बीजेपी का मूल एजेंडा हिंदुत्व रहा है और उसमें बड़ी सफलता पहले लालकृष्ण आडवाणी को मिली. जिसके बाद में पीएम नरेंद्र मोदी को और अब इस मामले में CM योगी बीजेपी में इन दोनों शीर्ष नेताओं के बाद अपनी जगह बनाने में सफल हुए हैं.