नए आईटी नियमों के तहत की कार्रवाई- Whatsapp ने एक महीने में 20 लाख भारतीय खातों को किया बैन, जानें वजह

व्हाट्सएप खाता बैन

व्हाट्सएप खाता बैन

नई दिल्ली। मैसेजिंग सेवा कंपनी व्हाट्सऐप (Whtasapp) ने इस साल 15 मई से 15 जून के बीच 20 लाख भारतीय खातों (20 lakh Indian Accounts) पर रोक (Ban) लगायी जबकि इस दौरान उसे शिकायत की 345 रिपोर्ट मिली। कंपनी ने अपनी पहली मासिक अनुपालन रिपोर्ट (monthly compliance report) में यह जानकारी दी। नए सूचना प्रौद्योगिकी नियमों (New IT Rules) के तहत यह रिपोर्ट पेश करना अनिवार्य कर दिया गया है। नये नियमों के तहत 50 लाख से ज्यादा उपयोगकर्ताओं वाले प्रमुख डिजिटल मंचों के लिए हर महीने अनुपालन रिपोर्ट प्रकाशित करना जरूरी है।

क्यों जरूरी है रिपोर्ट पेश करना

इस रिपोर्ट में इन मंचों के लिए उन्हें मिलने वाली शिकायतों और उन पर की जाने वाली कार्रवाई का उल्लेख करना जरूरी है। Whatsapp ने कहा कि हमारा मुख्य ध्यान खातों को बड़े पैमाने पर हानिकारक या अवांछित संदेश (unwanted message) भेजने से रोकना है। हम ऊंची या असामान्य दर से मैसेज भेजने वाले इन खातों की पहचान करने के लिए उन्नत क्षमताओं को बनाए हुए हैं और अकेले भारत में 15 मई से 15 जून तक इस तरह के दुरुपयोग की कोशिश करने वाले 20 लाख खातों पर प्रतिबंध लगा दिया है।

दुनिया भर में हर महीने 80 लाख खातों पर लगा रही रोक

कंपनी ने स्पष्ट किया कि 95 प्रतिशत से अधिक ऐसे प्रतिबंध स्वचालित या बल्क मैसेजिंग (Spam) के अनधिकृत उपयोग के कारण लगाए गए हैं। Facebook के स्वामित्व वाली कंपनी ने बताया कि रोक लगाए जाने वाले खातों की संख्या 2019 के बाद से बढ़ी है क्योंकि उसकी प्रणाली ज्यादा उन्नत हो गयी और इस तरह के ज्यादा खातों का पता लगाने में मदद मिलती है। Whatsapp दुनिया भर में हर महीने औसतन करीब 80 लाख खातों पर रोक लगा रही है या उन्हें निष्क्रिय कर रही है। Google, Koo, Twitter, Facebook और Instagram दूसरे सोशल मीडिया मंचों ने भी अपनी अनुपालन रिपोर्ट सौंपी है।