खुशखबरी! 12 साल से अधिक उम्र के लोगो के लिए आ गई कोरोना वैक्सीन, जानिए खासियत

कोरोना वैक्सीन को लेकर एक खुशखबरी है. जायडस कैडिला की कोरोना वैक्सीन को देश में आपात मंजूरी दे दी गयी है. 12 साल से अधिक उम्र के लोगो के लिए ये वैक्सीन असरदार हो सकती है. इस वैक्सीन को DCGI की तरफ से मंजूरी दे दी गयी है. इस वैक्सीन की 3 डोज़ लगाई जाएंगी.

मिली जानकारी एक मुताबिक, जायडस कैडिला की कोरोना वैक्सीन का नाम ZyCoV-D है, यह डीएनए पर बेस्ड दुनिया की पहली स्वदेशी वैक्सीन है जिसे DCGI की तरफ से मंजूरी भी मिल गई है. जायडस कैडिला की इस वैक्सीन को भारत सरकार के जैव प्रौद्योगिकी विभाग के साथ मिलकर बनाया गया है जिससे कोरोना संक्रमण में और गिरावट आ सकें.

इस पर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर लिखा कि, भारत कोरोना की लड़ाई पूरी बहादुरी के साथ लड़ रहा है. दुनिया की पहली डीएनए आधारित जायडस कैडिला की वैक्सीन भारतीय वैज्ञानिकों के इनोवेटिव उत्साह को दर्शाती है.

बात करें इस वैक्सीन की तो, जायडस कैडिला की कोरोना वैक्सीन पहली पालस्मिड DNA वैक्सीन है जिसे बिना सुई की मदद से फार्माजेट तकनीक से व्यक्ति के लगाया जायेगा. बता दें कि, इसे लगाने के लिए बिना सुई वाले इंजेक्शन में दवा भरी जाती है, फिर एक मशीन में लगाकर बांह पर लगाया जाता है. मशीन पर एक बटन लगा होता है उस लगे बटन को दबाने से टीके की दवा शरीर में पहुंच जाती है. बताते चलें कि, जायडस कैडिला की ये वैक्सीन ट्रायल में 66% तक असरदार साबित हुई है. सूत्रों मुताबिक, इसके मुकाबलें कोविशील्ड, कोवैक्सिन, स्पुतनिक V, मॉडर्ना और जॉनसन ज्यादा असरदार साबित हुईं हैं.

वहीं, बात करें देश में कोरोना वायरस के मामलों की तो देश के अलग-अलग राज्यों से कोरोना के मामलों में गिरावट देखी जा रही है. वहीं, सरकार भी लोगों से लगातार अपील कर रही है कि मास्क तथा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें. बात करें वैक्सीनेशन की तो वैक्सीनेशन का काम भी बड़े स्तर पर किया जा रहा है.