ब्रिटिश जवान ने पहना सलवार कमीज, फिर तालिबानियों को यूं चकमा देकर काबुल से भाग आया

अफगानिस्तान पर तालिबानियों के कब्जे के बाद वहां के सभी लोग अपना देश छोड़ने के लिए मजबूर हो गए हैं. वहीं अब काबुल एयरपोर्ट को तालिबान के लड़ाको नें घेर लिया है जहां से देश को छोड़कर भागना और भी मुश्किल हो गया है.इसी बीच एक ब्रिटिश सैनिक तालिबान को अपनी चतुराई से चकमा देकर वहां से भाग निकला है.

डेली मेल की खबर के मुताबिक पूर्व ब्रिटिश सैनिक लॉयड कॉमर जो कि 60 वर्षीय है. इस सैनिक के बारे में बताया जा रहा है कि इसने अपने मुल्क में पहुंचने के लिए काफी चतुराई से मेहनत की है. दरअसल सबसे पहले उन्होंने पारंपरिक अफगानी पोशाक सलवार-कमीज पहनकर अपना हुलिया बदला फिर अपने सिर पर अफगानी स्कार्फ पहनकर एक लोकल गाड़ी में एयरपोर्ट के लिए रवाना हो गए. काबुल से बाहर निकलने के लिए वहां के कुछ स्थानीय लोगों ने भी उनकी मदद की.

लॉयड कॉमर ने बताया कि तालिबान के चलते वहां कोई नहीं रहना चाहता है. मैनें वहां से बाहर आने के लिए उच्चायोग से भी संपर्क किया था, लेकिन मुझे से जानें के लिए मना कर दिया गया. मैं इस बात को सुनकर और भी ज्यादा घबरा था जब मुझे पता चला कि तालिबानी घर में घुसकर लोगों को मार रहे हैं, जिसके बाद मैंनें हुलिया बदलकर देश से निकलने की ठानी.

पूर्व ब्रिटिश सैनिक को रास्ते में तालिबानी चेेक पोस्ट भी मिला लेकिन वे वहां से भी उन्हें चकमा देकर निकल गया. करीब एक घंटे के बाद वे एयरपोर्ट पर पहुंचा , मैनें खुद को शांत व स्थानियां व्यक्ति जैसा दिखाने की कोशिश की, इसके साथ ही मुझे दुख था कि मैं बाकी अफगानियों की कोई मदद नहीं कर पाया.

बताया जाता है कि पूर्व ब्रिटिश सैनिक लॉयड C-17 प्लेन से सीधे अपने देश नहीं जा सकते . वे सबसे पहले UAE पहुंचे, फिर स्पेन और इसके बाद ब्रिटेन पहुंचे. अपने घर पर पहुंचकर लॉयड ने राहत की सांस ली और कहा कि अफगानिस्तान बहुत अच्छा देश है लेकिन मुझे इस बात का दुख है कि मैं वहां के लोगों के लिए कुछ नहीं कर पाया.