यूपी:‌ किसानों के खाते में पीएम मोदी ने ट्रांसफर करीं रकम, जानिए आपको मिली या नहीं

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किसानों के खाते में योजना के तहत रुपए ट्रांसफर कर दिए हैं. प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत उत्तर प्रदेश के किसानों को रकम ट्रांसफर की गई है.

मिली जानकारी के मुताबिक, पीएम मोदी ने ‘प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना’ के तहत उत्तर प्रदेश के करीब 2 करोड़ 36 लाख किसानों के खाते में 4 हजार 720 करोड़ रुपए की निधि जारी कर दी है. सूत्रों के मुताबिक, अगस्त, सितंबर, अक्टूबर और नवंबर महीने की धनराशि किश्त प्रति दो हजार रुपए खातों में भेजी जाएगी.

आपको बता दें कि, केंद्र सरकार की प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना में करीब 18 लाख किसानों को 32 हजार 500 करोड़ रुपए दिए गए हैं और इसकी दूसरी किश्त पीएम मोदी के जारी करने से किसानों को लाभ होगा.

बताते चलें कि, इसके अलावा पीएम मोदी एग्रीकल्चर इंफ्रास्ट्रक्चर फंड योजना के तीन लाभार्थियों से संवाद किया. वहीं, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इस कार्यक्रम में वर्चुअल मीटिंग के जरिए शामिल हुए.

इस खास मौके पर पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कई बातें कहीं. उन्होंने कहा कि, इस बार देश अपना 75 वां स्वतंत्रता दिवस मनाने जा रहा है यह महत्वपूर्ण पड़ाव हमारे लिए गौरव का तो है ही, साथ ही ये नए संकल्पों, नए लक्ष्यों का अवसर है. इस नए अवसर पर हमें तय करना है कि आने वाले 25 वर्षों में हम भारत को कहां देखना चाहते हैं. इसके साथ ही पीएम मोदी ने किसानों को लेकर भी अन्य बातें कहीं.

लाभार्थी इस लिस्ट में अपना नाम कुछ इस तरह से चेक कर सकते हैं. सबसे पहले pmkisan.gov.in वेबसाइट पर जाकर ‘Farmers Corner’ पर क्लिक करें. इसके बाद Beneficiary status पर जाएं जिससे नया पेज खुलेगा. फिर आधार नंबर और फोन नंबर मांगा जाएगा तो वह सबमिट कर दें. कुछ ही सेकंड में आपको अपना स्टेटस पता चल जाएगा.

वहीं, प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के दूसरे चरण का आगाज उत्तर प्रदेश से ही किया जाएगा. बता दें कि प्रधानमंत्री मोदी ने विधानसभा चुनाव 2017 से पहले उज्जवला के पहले चरण की शुरुआत 1 मई 2016 को पूर्वांचल के बलिया से की थी. दरअसल, ऐसे कयास लगाए गए कि भाजपा को महिलाओं का समर्थन इस योजना के तहत ही ज्यादा मिलाा.

बात करें प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के पहले चरण की तो प्रदेश में उज्जवला-1 के तहत अब तक करीब 2 करोड़ से ज्यादा गैस कनेक्शन दिए गए हैं. वहीं, दूसरे चरण में गैस कनेक्शन लेने की तैयारी है. इस बार गैस कनेक्शन देने का फोकस उन लोगों के पर ज्यादा है जो पहले चरण में छूट गए थे. इसके अलावा भी इस योजना के तहत प्रदेशवासियों के फायदे के लिए कार्य किया जाएगा.