पॉर्नोग्राफी केस: राज कुंद्रा की गिरफ्तारी पर सरकारी वकील ने किये कई चौंकाने वाले खुलासे

सॉफ्ट पॉर्नोग्राफी केस में फंसे राज कुंद्रा भले ही पुलिस कस्टडी में है. लेकिन उनकी मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही है. जानकारी के लिए बता दें कि सॉफ्ट पॉर्नोग्राफी मामले में हर दिन नए नए खुलासे हो रहे है. वही बता दें कि राज कुंद्रा ने बॉम्बे हाईकोर्ट में अपनी गिरफ्तारी को अवैध बताते हुए रिट पिटीशन दायर की थी. जिस पर अब बड़ा खुलासा हुआ है.

जानकारी के लिए बता दें कि याचिका की सुनवाई पर सरकारी वकील ने कई चौकाने वाले खुलासे किये है. वकील ने कोर्ट में कहा कि ‘राज कुंद्रा के लैपटॉप से यूजर फाइल्स, इमेल्स, मैसेज, फेसटाइम, इंटरनेट ब्राउजिंग हिस्ट्री मिले है, जिसमें सब्सक्राइबर डिटेल्स, अलग-अलग तरह कर इनवॉयस भी मिली है. क्राइम ब्रांच को स्टोरेज नेटवर्क से 51 एडल्ट मूवीज मिली हैं, जबकि राज कुंद्रा के लैपटॉप से 68 एडल्ट मूवीज मिली हैं.’

इतना ही नहीं वकील ने ये भी कहा कि ‘राज कुंद्रा एक ब्रिटिश नागरिक हैं और वो लगातार सबूतों को नष्ट कर रहे थे. क्या जांच एजेंसी उन्हें ये सब करते हुए बस चुपचाप देखती रहती. राज कुंद्रा ने iPhone से iCloud डेटा से काफी कुछ डिलीट किया है. पीपीटी प्रेजेंटेशन में हॉटशॉट्स ऐप के डिटेल्स मिले हैं, जिसमें मार्केटिंग स्ट्रैटेजी और फंक्शन्स की जानकारी मिली है. इसके अलावा फिल्म की स्क्रिप्ट सेक्सुअल कंटेंट के साथ मिली है.’ साथ ही साथ वकील ने ये भी कहा कि ‘राज कुंद्रा को 41A नोटिस दिया गया था, लेकिन उन्होंने उसे एक्सेप्ट नहीं किया था. राज कुंद्रा लगातार जांच में सहयोग नहीं कर रहे थे.’ जाहिर है कि सरकारी वकील ने कोर्ट में तथ्यों के आधार पर राज कुंद्रा की गिरफ्तारी को सही ठहराया है.