राजपाल यादव ने वेब शोज में एक्टिंग को लेकर कही ये बड़ी बात

बॉलीवुड कॉमेडियन एक्टर राजपाल यादव (Rajpal Yadav) ने एक अरसे बाद हिंदी फिल्मों में वापसी की है। वह जुलाई महीनें में रिलीज़ हुई फिल्म 'हंगामा 2' (Hungama 2) में नजर आए थे। हिंदी सिनेमा से गायब रह कर उन्होंने अन्य भाषाएं जैसे तेलुगु, मराठी, पंजाबी और बंगाली फिल्मों में अपना हाथ आज़माया। राजपाल यादव ने कहा है कि वह खुद को ओटीटी क्षेत्र में फिट होते हुए नहीं देखते हैं। एक इंटरव्यू में एक्टर ने कहा कि बिना गालियों के भी उन्होंने तालियां कमाई हैं। इसके साथ ही उन्होंने अपने फैंस को अपने करियर के दौरान उनके साथ बने रहने के लिए धन्यवाद दिया।

एक प्रिंट मीडिया को दिए गए अपनें इंटरव्यू में कहा, "ओटीटी का चलन वास्तव में बढ़ गया है, लेकिन मैं खुद को उस जगह में फिट नहीं देखता। पिछले कुछ वर्षों में जिस तरह की वेब सीरीज़ पर मंथन किया जा रहा है, मैं उससे रिलेट नहीं कर सकता। मुझे स्क्रीन पर गालियां देना पसंद नहीं है, जो आजकल वेब सीरीज में काफी आम हो गया है। मुझे अपने काम के लिए बिना गालियों के तालियां मिली हैं।" एक्टर ने आगे कहा, "मैं ऐसा कुछ नहीं करना चाहता जिसे मैं रियल लाइफ में सराह नहीं सकता। मैं स्क्रीन पर बदतमीजी करके अपना जीवन यापन नहीं करना चाहता था और शुक्र है, मुझे ऐसा नहीं करना पड़ा। मैं बहुत भाग्यशाली हूं, कि दो दशक बाद भी लोग मुझे देखकर बोर नहीं हुए हैं। मैं पूरी तरह से अपने फैंस को इस बात का श्रेय देता हूं कि उन्होंने मेरे अंदर के एक्टर को जिंदा रखा।"

राजपाल यादव कॉमेडी फिल्मों में सपोर्टिंग रोल करने के लिए जानें जाते हैं। एक्टर नें बताया था कि राम गोपाल वर्मा (Ram Gopal Varma) एकमात्र ऐसे इंसान थे जिन्होंने उन्हें अपनी फिल्म में लीड रोल में लेने की हिम्मत दिखायी। उन्होंने कहा, "केवल राम गोपाल वर्मा में ही मुझे 'मै माधुरी दीक्षित बनना चाहती हूं' के लिए लीड रोल ऑफर करने का साहस था।" उन्होंने उस समय को याद करते हुए कहा कि उन्हें उस साल अमिताभ बच्चन, संजय दत्त, सलमान खान, अजय देवगन, शाहरुख खान और ऋतिक रोशन के साथ अवॉर्ड के लिए नॉमिनेट किया गया था।