तालिबान की हरकतों को लेकर अब पूर्व विदेश मंत्री यशवंत सिन्हा ने कही ये बड़ी बात, अमेरिका को भी ठहराया जिम्मेदार

अफगानिस्तान पर तालिबान के राज से अधिकतर लोग परेशान हैं. अफगानिस्तान में जिन भी देशों के नागरिक फंसे हैं, देश उन्हें वापस लाने की पूरी कोशिश कर रहा है. इतना ही नहीं लोग खुद देश छोड़कर जाना चाहते हैं. वहीं, तालिबान भी अपनी सरकार बनाने की हर संभव कोशिश कर रहा है. फिलहाल, भारत के पूर्व विदेश मंत्री और टीएमसी नेता यशवंत सिन्हा ने तालिबान की ऐसी हरकतों पर एक बड़ा बयान दिया है.

सूत्रों के मुताबिक, यशवंत सिन्हा से ये सवाल पूछा गया कि लोग जो आप बीती सुना रहे हैं उससे तालिबान की बर्बरता नजर नहीं आती? इसके जवाब में यशवंत सिन्हा कहते हैं कि, ‘ठीक है बहुत सारे भयानक दृश्य देखने को मिले हैं और बहुत सारे मुल्क है, हमारा भी मुल्क है जहां इस तरह के भयानक दृश्य देखने को मिल जाते हैं लेकिन इससे हम पूरे मुल्क को जज नहीं करेंगे.’

वहीं, यशवंत सिन्हा आगे कहते हैं कि, ‘हम ये नहीं बोल रहे कि तालिबान जो बोल रहा है उस पर विश्वास कर लें लेकिन जो तालिबान बोल रहा है उसको ‘आउट ऑफ हैंड’ ना लें, सिरे से खारिज ना करें. हम वेरीफाई करें और भरोसा करें.’

मालूम हो कि, इससे पहले भी अफगानिस्तान में चल रहे इन हालातों की तुलना हिंदुस्तान से की गई थी. आपको बता दें कि, पूर्व विदेश मंत्री यशवंत सिन्हा ने अमेरिका को आड़े हाथों लेते हुए ये भी दावा किया कि, अफगानिस्तान आज जिन हालात में हैं, उसके लिए सिर्फ और सिर्फ अफगानिस्तान जिम्मेदार है. अमेरिका अकेले सबसे बड़ा गुनहगार है. आज हम आश्चर्य कर रहे हैं कि तालिबान ने इतनी जल्दी कैसे कब्जा कर लिया? इसलिए मैं कहना चाहूंगा कि सबसे बड़ी गलती अमेरिका ने की है और आज जो संकट है उसके लिए अमेरिका जिम्मेदार है.