भारत को मिली यूएनएससी की प्रेसिडेंसी: फ्रांस रूस ने दी बधाई वहीं पाकिस्तान में मची हलचल…..

फ्रांस ने भारत को बधाई दी और इस बात की पुष्टि की कि वह भारत को यूएनएससी की अध्यक्षता मिलने पर बहुत प्रसन्न है और और वह आतंकवाद विरोधी कोमा शांति बहाली और समुद्र सुरक्षा जैसे मुद्दों पर भारत के साथ काम करेगा। फ्रांसीसी राजदूत ईमैन्युअल लेनैन ने ट्वीट किया है कि उन्हें बहुत खुशी है कि फ्रांस के पश्चात यूएनएससी अध्यक्षता भारत को मिली है। उन्होंने यह भी कहा कि वह भारत के साथ जोड़कर मौजूदा सारे संकट और आतंकवाद का सामना करेंगे।

वहीं भारत को रूस ने भी संयुक्त राष्ट्र परिषद की प्रेसिडेंसी मिलने पर बधाई दी है। रूस का कहना है कि भारत आतंकवाद विरोधी अमन और समुद्री सुरक्षा जैसे मुद्दों पर दादा जोड़ देता है जिससे वह भारत के एजेंडा से वाकई में प्रभावित हैं। यूसी ब्रांड एंबेसडर निकोल कुदाशेव ने ट्वीट करते हुए कहा की यूएनएससी प्रेसिडेंसी भारत को मिलने पर बहुत-बहुत बधाई। और हम भारत से सफलता और प्रभावी काम की उम्मीद रखते हैं।

क्या रही पाकिस्तान की प्रतिक्रिया

हर वक्त कश्मीर पर अपना हक जताने वाले पाकिस्तान ने इस मुद्दे में भी यही राग अलाप दिया। पाकिस्तानी समाचार पत्र की सुबह की रिपोर्ट के अनुसार विदेशी कार्यालय के प्रवक्ता जाहिद हाफिज चौधरी ने कहा कि भारत यूएनएससी की प्रेसिडेंसी के दौरान बिना भेदभाव काम करेगा। उन्होंने कहा की भारत अपने कार्यकाल मैं निष्पक्ष होकर परिषद की अध्यक्षता के संचालन को कंट्रोल करने वाले प्रासंगिक कानून और मानदंडों का अच्छे से पालन करेगा।

यूएनएससी में भारत की अध्यक्षता सोमवार 2 अगस्त से जारी हो जाएगी।

भारत में संयुक्त राष्ट्र के प्रतिनिधि पीएस त्रिमूर्ति है जिन्होंने बोला है कि वह इन तीन मुद्दों पर प्रमुख ध्यान देंगे- आतंकवाद विरोधी, अमन बहाली और समुद्री सुरक्षा।