कुमार विश्वास ने तालिबान का समर्थन करने पर मुनव्वर राणा को दिया मुंहतोड़ जवाब, कहा -‘कुत्ते की जात पहचानी गई’

अफगानिस्तान पर तालिबानियों के कब्जे के बाद बहुत से भारत के इस्लामिक नेता तालिबान की तारीफ करते हुए नजर आ रहे हैं. अफगानिस्तान की सत्ता हासिल करने के बाद  सपा सांसद शफीकुर्रहमान बर्क,शायर मुनव्वर राणा ,AIMPLB के प्रवक्ता सज्जाद नोमानी व शफीकुर्रहमान बर्क के बेटे महमूर ने तालिबानियों की तारीफ के पुल बांध दिए हैं.

दरअसल इस मामले के बाद मशहूर कवि  कुमार विश्वास ने इन सभी कट्टरपंथियों की बोलती बंद कर दी है. बता दें कि कुमार विश्वास ने बिना किसी का नाम लेते हुए तालीबान की तारीफ करने वालों को कुत्ता कहा है. 

कुमार विश्वास ने अपने ट्टिटर अकाउंट से तालीबान की तारीफ करने वालों के लिए लिखा है कि ज्यादा दिमाग न लगाएं. अगर पड़ोस के घर में मची अफरातफरी के कारण, जिंदगीभर आपसे इज्जत पाने वाले और आपके घर में रह रहे, बदबूदार सोच से भरे किसी जाहिल शख्स का पर्दाफाश हो रहा है तो शोक नहीं, शुक्र मनाइए कि दो पैसे की प्याली गई (वो भी पड़ोसियों की) पर कुत्ते की जात पहचानी गई।

जानकारी देते हुए बता दें कि कुमार विश्वास ने सीधे तौर पर मुनव्वर राणा पर निशाना साधा है. इससे पहले भी मुनव्वर राणा ने बीजेपी के खिलाफ तीखे बोल बोले हैं. मुनव्वर राणा ने कहा था कि हम तो दंगे करवाने में विश्वगुरू है, जो तालिबान में हो रहा है वो भारत में भी तो होता आया है. यहां तक की अब मुनव्वर राणा ने तालिबान की तुलना रामायण लिखने वाले महर्षि वाल्मीकि से कर दी.