कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच फिर टेस्टिंग पर दिया जा रहा ध्यान, केरल में सबसे अधिक जांच, ये राज्य सबसे पीछे

कोरोना जांच

कोरोना जांच

नई दिल्ली। देश भर में कोरोना वायरस (Coronavirus) का प्रकोप फिर से बढ़ता जा रहा है। कई राज्यों में संक्रमितों की संख्या में इजाफा हुआ है। ऐसे में सरकार और आम लोगों की परेशानियां और भी ज्यादा बढ़ गई हैं। कोरोना के बढ़ते मामलों को देख (Covid 19 Testing) कोविड-19 टेस्टिंग पर भी अधिक ध्यान दिया जा रहा है। देश में वर्तमान समय में सबसे ज्यादा संक्रमित केरल में सामने आ रहे हैं। इसी को देखते हुए केरल कोरोना जांच में टॉप पर है। यहां सबसे ज्यादा जांच की जा रही है। पिछले सात दिनों में यहां हर 10 लाख लोगों में 4587 टेस्ट हो चुके हैं। वहीं दूसरी ओर कई राज्य ऐसे भी हैं जहां ना के बराबर जांच हो रही है। देश भर में सबसे कम जांच वाला राज्य इस समय राजस्थान है। यहां टेस्ट का आंकड़ा मात्र 378 है। इसके अलावा पश्चिम बंगाल, हरियाणा, मध्य प्रदेश और गुजरात में ये आंकड़ा एक हजार से नीचे है।

किन राज्यों में कितने हो रहे टेस्ट

कोरोना के बढ़ते मामलों को देख ज्यादातर राज्यों में औसतन टेस्ट की संख्या 3 हजार ने नीचे है। हालांकि असम (Assam) और दिल्ली (Delhi) इस लिस्ट में शामिल नहीं है। असम में जहां हर 10 लाख लोगों में 3563 लोगों की कोरोना जांच (Corona Test) की जा रही है तो वहीं दिल्ली में 3336 लोगों का कोरोना टेस्ट हुआ है। छोटे राज्यों की बात करें तो मिजोरम (Mizoram) में 1 अगस्त को 7 दिनों के औसतन जांच की संख्या 4916 थी। यह असम से थोड़ी ही ज्यादा थी। 14 बड़े शहरों में हर 10 लाख लोगों में औसतन जांच की संख्या दो हजार से नीचे है। वहीं केरल (Kerala) और जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) जैसे राज्यों के आंकड़े का यह आधा है। बिहार (Bihar) में ये आंकड़ा 1196 है और उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में 1052 है।