विपक्ष को एकजुट करने के लिए सोनिया गांधी ने बुलाई बैठक तो लोगों ने कसा तंज, ‘अपनी पार्टी के नेता तो संभल नही रहे…’

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने शुक्रवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए एक बैठक की जिसमें उनकी पार्टी समेत 19 विपक्षी दल के नेता शामिल रहें. वहीं, सोशल मीडिया पर बैठक के कुछ समय बाद ही कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी जबरदस्त ट्रेंड करने लगीं.

सोशल मीडिया के जरिए प्रोड्यूसर अशोक पंडित सहित तमाम लोगों ने इस बैठक की खिल्लियां उड़ाईं. प्रोड्यूसर अशोक पंडित ट्वीट कर लिखते हैं कि, ‘अपने सीनियर कांग्रेस लीडर्स को साथ रखने में विफल रहने वाली सोनिया गांधी विपक्षी पार्टियों को एकजुट करने की कोशिश कर रही हैं. इससे बड़ी विडंबना क्या होगी.’

आपको बता दें कि, मजाक बनाने में भाजपा पार्टी भी पीछे नहीं रही. भाजपा पार्टी के प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि, ‘कॉन्ग्रेस सिकुड़कर ‘वर्चुअल पार्टी’ रह गई है. वह न केवल वर्चुअल मीटिंग आयोजित करती है बल्कि उसका अस्तित्व भी सिर्फ वर्चुअल प्लेटफार्मों तक रह गया है. कांग्रेस ने देश का विश्वास खो दिया है.’

सूत्रों के मुताबिक, कांग्रेस पार्टी की बैठक का उद्देश्य मोदी सरकार के खिलाफ विपक्ष को एकजुट करना है. बताते चलें कि मीटिंग में विपक्ष के खिलाफ तथा साल 2024 में होने वाले लोकसभा चुनाव के बारे में बातें हुईं.

बात करें इस मीटिंग की तो इसमें राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के प्रमुख शरद पवार, कांग्रेस नेता राहुल गांधी, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, महाराष्ट्र मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, तमिलनाडु और झारखंड के मुख्यमंत्री भी शामिल हुए. इतना ही नहीं इसके अलावा भी अन्य पार्टियां शामिल हुईं लेकिन बसपा, सपा और आप पार्टियां इस बैठक में शामिल नहीं हो पाईं.