अब असंगठित क्षेत्र के करोड़ों श्रमिकों तक पहुंचेगा योजनाओं का लाभ, केंद्र सरकार ने उठाया ये महत्वपूर्ण कदम

ई-श्रम पोर्टल

ई-श्रम पोर्टल

नई दिल्ली। केंद्रीय श्रम और रोजगार मंत्री भूपेंद्र यादव (Union Labor and Employment Minister Bhupendra Yadav) ने असंगठित क्षेत्र (unorganized sector) के 38 करोड़ श्रमिकों का Database तैयार करने और उसका रखरखाव करने के वास्ते ई-श्रम पोर्टल (E-shram Portal) शुरू किया। सरकार का लक्ष्य इस पोर्टल के जरिये असंगठित क्षेत्र के 38 करोड़ श्रमिकों जैसे निर्माण मजदूर (construction worker), प्रवासी कार्यबल (migrant workforce), स्ट्रीट वेंडर (street vendors) और घरेलू कामगारों (domestic workers) को पोर्टल पर पंजीकृत कराना है। पंजीकरण बृहस्पतिवार से शुरू गया है।

पहली बार इतनी बड़ी संख्या में कामगारों का होगा पंजीकरण

श्रम मंत्री ने कहा कि भारत के इतिहास में पहली बार 38 करोड़ असंगठित कामगारों के पंजीकरण (Registration) की व्यवस्था की जा रही है। यह न केवल उन्हें पंजीकृत करेगा बल्कि केंद्र और राज्य सरकारों द्वारा लागू की जा रही विभिन्न सामाजिक सुरक्षा योजनाओं (social security plans) को पूरा करने में भी मददगार होगा। उन्होंने कहा कि योजनाओं को अंतिम छोर तक पहुंचाने की दिशा में यह Portal एक बड़ा प्रोत्साहन साबित होगा।

श्रमिकों को मिलेगा दो लाख रुपये का दुर्घटना बीमा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने ई-श्रम पोर्टल पर पजीकरण कराने वाले प्रत्येक असंगठित क्षेत्र के श्रमिक को 2 लाख रुपये का दुर्घटना बीमा कवर स्वीकृत किया है। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि पोर्टल पर पंजीकृत यदि कोई कामगार दुर्घटना का शिकार होता है, तो मृत्यु या स्थायी रूप से शारीरिक विकलांगता की स्थिति में दो लाख रुपये और आंशिक रूप से शारीरिक विकलांगता (physical disability) का शिकार होने पर एक लाख रुपये दिए जायेंगे। इसके साथ ही सरकार ने पोर्टल पर पंजीकरण की मांग करने वाले श्रमिकों के प्रश्नों की सहायता और समाधान के लिए राष्ट्रीय टोल फ्री नंबर....14434... भी जारी किया।