इन 11 देशों से आ रहे हैं मुंबई एयरपोर्ट तो अपने खर्च से कराना होगा कोरोना टेस्ट, ये छूट भी हुई खत्म

एक बार फिर से दुनिया में कोरोना वायरस (CoronaVirus Third Wave) की तीसरी लहर आ गई है। कोरोना के नये वेरिएंट ने भारत की चिंता भी बढ़ा दी है। इसी को देखते हुए विमानन मंत्रालय ने अंतरराष्ट्रीय यात्रा कर मुंबई एयरपोर्ट (Mumbai Airport) पर आने वाले यात्रियों का एयरपोर्ट पर ही कोरोना टेस्ट जरूरी कर दिया है। इतना ही नहीं यात्रियों को इस कोरोना टेस्ट का खर्च भी खुद ही वहन करना होगा। साथ ही कोरोना टेस्ट कराने के बाद ही एयरपोर्ट से बाहर निकलने की अनुमति दी जाएगी।

इन ग्यारह देशों से आने वाले यात्रियों के लिए खास हिदायत

जानकारी के अनुसार, विमानन मंत्रालय ने गुरुवार रात 12 बजे से मुंबई एयरपोर्ट पर कोरोना वायरस टेस्ट के नियम को अनिवार्य कर दिया है। इसके साथ ही मुख्य रूप से 11 देशों से आने वाले यात्रियों को यह टेस्ट कराना होगा। इसमें यूरोप, ब्रिटेन, दक्षिण अफ्रीका, बांग्लादेश, बोत्सवाना, न्यूजीलैंड, चीन, जिम्बॉब्वे, ब्राजील, मॉरीशस समेत खाड़ी देश शामिल है। मुंबई एयरपोर्ट पर आने वाले इन यात्रियों को टेस्ट कराना जरूरी होगा।

इन यात्रियों को मिली छूट भी होगी खत्म

इंटरनेशनल यात्रा कर भारत आने वाले कुछ यात्रियों को आरटी पीसीआर टेस्ट (RT-PCR Test) से राहत दी गई थी। जो 3 सितंबर से खत्म कर दी जाएगी। इंटरनेशनल यात्रा कर भारत आने वाले 65 वर्ष या उससे अधिक उम्र व दोनों डोज लगवा चुके लोगों को एयरपोर्ट पर कोरोना टेस्ट न कराने की छूट थी। यह 3 सितंबर से खत्म कर दी गई है। इसके साथ ही खाड़ी देश समेत यूरोप, अफ्रीका, ब्राजील, बांग्लादेश, चीन, न्यूजीलैंड जिम्बाब्वे से आने वाले जिन यात्रियों को मुंबई एयरपोर्ट से कनेक्टिंग फ्लाइट लेनी है। उन्हें कोरोना की नेगेटिव रिपोर्ट दिखानी होगी। यह रिपोर्ट ज्यादा से ज्यादा 72 घंटे पहले की होनी चाहिए।

14 दिनों तक रहना होगा होम क्वारंटाइन

इंटरनेशनल यात्रा कर भारत में प्रवेश करने वाले यात्रियों को एयरपोर्ट पर शपथ पत्र जमा करना होगा। यहां मुंबई एयरपोर्ट पर उन्हें अधिकारियों को शपथ पत्र देना होगा कि वह 14 दिनों तक होम क्वांरटाइन रहेंगे। अन्यथा उन पर कार्रवाई की जा सकती है।

एयरपोर्ट पर इतने रुपये में होगा टेस्ट

वहीं बता दें कि मुंबई एयरपोर्ट पर कोरोना टेस्ट मात्र 600 रुपये में किया जाएगा। इस समय आरटी पीसीआर जांच को प्रति घंटे 600 यात्रियों तक बढ़ाया दिया गया है। जिसे यात्रियों को अपनी बारी का ज्यादा देर तक इंतजार न करना पड़े।