तालिबान बना रहा था पंजशीर कब्जे का जश्न तभी हवाई फायरिंग में बच्चों सहित 17 लोगो की मौत

अफगानिस्तान की सत्ता पर फिर से अपना राज जमाने के बाद तालिबान अभी भी चुप नहीं बैठा है वह पंजशीर इलाके पर भी अपना कब्जा जमाने की मशक्कत में लगा हुआ है, लेकिन शुक्रवार को तालिबान ने दावा किया है कि उसने अब पंजशीर इलाके पर भी अपना कब्जा जमा लिया है.

अश्वका समाचार एजेंसी के मुताबिक शुक्रवार को तालिबान ने पंजशीर इलाके पर अपना कब्जा जमाने के बाद देर रात तक फायरिंग करके जश्न मनाया था. वहीं तालिबानियों के इस जश्न से अफगानी लोगों के घर में मातम पसर गया. दरअसल काबुल में तालिबान के लड़ाकों की तरफ से  हुई गोलाबारी में बच्चों सहित 17 लोग मारे जाने की खबर सामने आई है वहीं 14 लोग घायल भी हुए है.

इसके साथ ही रेसिस्टेंस फोर्स ने तालिबानी दावे को खारिज करते हुए कहा है कि पंजशीर अब भी तालिबानियों के कब्जे से बाहर है. इस गोलीबारी में जो लोग घायल हुए हैं उनके प्रियजनों ने उन्हें अस्तपताल में भर्ती कराया है.

अमरुल्लाह सालेख ने भी तालिबान के कब्जे की बात को सिरे से खारिज करते हुए कहा है कि पंजशीर घाटी पर पिछले चार से पांच दिनों से तालिबान और अन्य बलों द्वारा हमला किया जा रहा है लेकिन अभी तक तालिबानियों का कोई कब्जा नहीं हुआ है,उन्होंने आगे कहा कि मीडिया द्वारा चारों ओर ये बात फैल रही है कि मैं अफगानिस्तान से भाग गया हूं, लेकिन ये झूठ है में यही पर अपने कमांडरों और अपने राजनीतिक नेताओं के साथ पंजशीर घाटी में हूं,