Bigg Boss OTT: करण के राकेश को Sexist कहने पर शमिता ने किया बचाव, कही ये बात

Bigg Boss OTT: करण जौहर, शमिता शेट्टी और राकेश बापट

Bigg Boss OTT: करण जौहर, शमिता शेट्टी और राकेश बापट

'बिग बॉस ओटीटी' (Bigg Boss OTT) में 'रविवार का वार' काफी स्पेशल होता है। इस स्पेशल एपिसोड में शो के होस्ट करण जौहर (Karan Johar) घरवालों की अच्छे से क्लास लगाते हैं। इस बार ये क्लास लगी है राकेश बापट (Raqesh Bapat) की। करण ने इस बार के एपिसोड में राकेश की जमकर क्लास लगा दी है। करण ने राकेश की इस राय पर आपत्ति जताई कि इम्यूनिटी टास्क के दौरान प्रतीक सहजपाल (Prateek Sehajpal) को एक डिसएडवांटेज दिया जाना चाहिए क्योंकि आदमी शारीरिक रूप से महिलाओं की तुलना में 'मजबूत' होते हैं।

करण ने राकेश को सेक्सिस्ट (Sexist) रिमार्क देते हुए कहा, "मैं आपको बता दूं, मेरे प्रिय, अगर पुश करने के लिए आता है और मुझे आशा है कि इसकी जरूरत नहीं पड़ेगी, तो शमिता आपके ए** पर लात मार सकती है और नेहा (Neha Bhasin) आपके ए** पर लात मार सकती है। और दिव्या (Divya Agarwal) हर किसी के ए** पर लात मार सकती है।' करण ने राकेश को याद दिलाया कि वे 'एक जाग्रत दुनिया में रह रहे हैं' जहां ऐसी बातें कहना अस्वीकार्य है और उनसे अपने कमेंट पर सोच करने के लिए कहा। इसके बाद राकेश ने जवाब दिया, "मैं इस पर विचार करता हूं और ईमानदारी से मेरा इरादा ऐसा नहीं था। मैं महिलाओं से भरे घर में रहता हूं, मुझे पता है कि यह क्या है, ताकत क्या है और यह कहां से आती है।"

वहीं राकेश की बात पर शमिता शेट्टी (Shamita Shetty) पहले राज़ी नहीं थी इसलिए उनकी ओर से इस बात पर शांती थी। लेकिन इसके बाद एक्ट्रेस ने राकेश का बचाव करते हुए कहा, "लेकिन मैं समझ सकती हूं, हो सकता है कि इनका इंटेशन कुछ और था। गलत तरीके से निकला इनके मुंह से।" करण ने आगे कहा कि वह 'कैंसल कल्चर' का हिस्सा नहीं बनना चाहते हैं। करण ने कहा, "लोग मुझे बताते थे 'ओह, तुम पर्याप्त आदमी नहीं हो', और मैं आपको बताना चाहता हूं कि ये चीजें हानिकारक हैं। एक पुरुष के लिए उतना ही हानिकारक है जितना कि एक महिला के लिए। लेकिन मैं इसे कहने वालों को कैंसल नहीं करना चाहता है।" करण ने राकेश से कहा कि वे चाहतें है कि वह इससे कुछ सीखें। आपको बता दें कि रविवार को टेलिकास्ट हुए एपिसोड में मूस जट्टाना (Moose Jattana) घर से बेघर हो गयी हैं और अब घर में सिर्फ राकेश, शमिता, नेहा, दिव्या, प्रतीक और निशांत भट ही बचे हैं।