अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि का निधन, इन हालातों में मिला शव

अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि का निधन हो गया है. संदिग्ध हालत में उनका शव मिला. महंत नरेंद्र गिरि का शव प्रयागराज के उनके बाघंबरी मठ में ही फांसी के फंदे से लटकता मिला.

मिली जानकारी के मुताबिक, महंत नरेंद्र गिरि संदिग्ध हालत में मृत पाए गए. पुलिस के मुताबिक बाघंबरी मठ में जहां उनका शव मिला वहां चारों तरफ से दरवाजे बंद थे. इस दौरान पुलिस ने शुरुआती जांच के आधार पर इसे आत्महत्या बताया है.

अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि के आकस्मिक निधन पर अधिकतर लोगों ने शोक जताया है. लोगों ने ट्वीट कर शोक जताया तथा श्रद्धांजलि अर्पित की.

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि के निधन पर ट्वीट कर दुख जताया है.

सूत्रों के मुताबिक प्रयागराज के आईजी केपी सिंह ने बताया कि, 7 पन्नों का सुसाइड नोट मिला जिसे वसीयत की तरह लिखा गया है. उन्होंने बताया कि महंत नरेंद्र गिरि को जानने वाले लोग यह बता रहे हैं कि हैंडराइटिंग उन्हीं की है. हम फॉरेंसिक जांच के बाद लेटर जारी करेंगे. उन्होंने आगे कहा कि प्रदेश और देश की सरकार से निवेदन करता हूं कि इस मामले में निष्पक्ष जांच हो.

वहीं, उत्तर प्रदेश के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने भी महंत नरेंद्र गिरि के निधन पर शोक जताया है.

इसके अलावा सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भी अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि के निधन पर ट्वीट किया है. उन्होंने ट्वीट कर लिखा- अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष पूज्य नरेंद्र गिरि जी का निधन, अपूरणीय क्षति!