भारतीय कंपनियां जल्द करेंगी कर्मचारियों के वेतन में बढ़ोतरी, अगले साल से इतने प्रतिशत तक बढ़ेगी सैलरी

वेतन वृद्धि

वेतन वृद्धि

नई दिल्ली। कोरोना वायरस महामारी की दूसरी लहर (Corona Virus second wave) के झटके के बावजूद भारतीय कंपनियों (Indian Companies) ने जबर्दस्त जुझारू क्षमता का प्रदर्शन किया है। एक सर्वे (Survey) में कहा गया है कि महामारी (Pendamic) के झटके के बावजूद भारतीय कंपनियां इस साल अपने कर्मचारियों के वेतन (salary of employees) में औसतन 8.8 प्रतिशत की वृद्धि करेंगी। वहीं अगले साल यानी 2022 में वेतन वृद्धि (pay raise) 9.4 प्रतिशत रहेगी। एऑन (aon) के मंगलवार को जारी 26वें वार्षिक वेतन वृद्धि सर्वे के अनुसार, 2022 को लेकर ज्यादातर कंपनियां आशान्वित हैं। अगले साल 98.9 प्रतिशत कंपनियां अपने कर्मचारियों के वेतन में बढ़ोतरी करेंगी। वहीं 2021 में 97.5 प्रतिशत कंपनियों ने कर्मचारियों का वेतन बढ़ाने की बात कही है।

भारतीय कंपनियां पुनरुद्धार की राह पर

Survey में कहा गया है कि विभिन्न क्षेत्रों की धारणा सकारात्मक है और भारतीय कंपनियां पुनरुद्धार की राह पर हैं। ज्यादातर कंपनियों का मानना है कि 2021-22 में वेतन वृद्धि 2018-19 के स्तर पर पहुंच जाएगी। Aon के मानव पूंजी कारोबार में भागीदार रूपंक चौधरी ने कहा कि यह वित्तीय सेहत (financial health) और अर्थव्यवस्था (Economy) में तेजी का मजबूत संकेत है। स्पष्ट रूप से चीजें बेहतर हो रही हैं। पिछले साल 2020 में वेतन वृद्धि 6.1 प्रतिशत रही थी। जो इस साल 2021 में इसके 8.8 प्रतिशत तथा 2022 में 9.4 फीसदी पर पहुंचने की उम्मीद है। यह आंकड़ा 2018 और 2019 के महामारी से पहले के स्तर के बराबर होगा।

इस सर्वे में कहा गया है कि कोरोना महामारी की वजह से कंपनियों की डिजिटल यात्रा (Corporate digital journey) तेज हुई है और इससे लघु अवधि में डिजिटल प्रतिभाओं के लिए 'जंग' छिड़ी है। इससे वेतन बजट बढ़ रहा है और साथ ही विभिन्न क्षेत्रों में नौकरी बदलने वालों की संख्या में भी इजाफा हुआ है।