आज़म खां, मुख़्तार अंसारी और अतीक अहमद की बढ़ी मुश्किलें, इस मामलें में ईडी करेगी पूछताछ

उत्तर प्रदेश की जेल में बंद सपा नेता आजम खां, मुख्तार अंसारी व अतीक अहमद की मुश्किलें अब बढ़ती हुई नजर आ रहीं हैं. इन तीनों नेताओं से अब प्रवर्तन निदेशालय मनी लॉन्ड्रिंग मामले में पूछताछ करेगा.

दरअसल, प्रवर्तन निदेशालय ने इन तीनो नेताओं के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग मामले में मुकदमा दर्ज किया गया था. वहीं, अब प्रवर्तन निदेशालय को कोर्ट ने इन तीनों नेताओं को कस्टडी में लेकर पूछताछ करने की अनुमति दे दी है और अब टीम जल्द ही तीनों नेताओं से पूछताछ कर सकती है.

आपको बता दें कि, इन तीनों ही नेताओं पर गंभीर आरोप लगे हैं. मिली जानकारी के मुताबिक, आजम खां ने नियमों की धज्जियां उड़ाकर किसानों की जमीनें हड़प लीं जिसकी शिकायत किसानों ने राज्यपाल से की थी. ;दरअसल, ऐसा कहा गया है कि उन्होंने अपने ड्रीम प्रोजेक्ट जौहर यूनिवर्सिटी के नाम पर जिन जमीनों का अधिग्रहण किया था, उनमें से कई जमीनें सरकारी हैं और यूनिवर्सिटी बनाने में सरकारी पैसों का इस्तेमाल किया गया है.

वहीं, उत्तर प्रदेश की बांदा जेल में बंद बाहुबली माफिया व बसपा विधायक मुख्तार अंसारी पर आरोप है कि, उन्होंने एक सरकारी जमीन पर अवैध रूप से कब्जा जमाया और उसे सात साल के लिए 1.7 करोड़ रुपये प्रति वर्ष के हिसाब से एक निजी कंपनी को किराए पर दे दिया. वहीं, अब ईडी इस जमीन की रकम और कब्जा जमाने के मामले में पूछताछ करेगी.

इसके अलावा यूपी के माफिया और बाहुबली अतीक अहमद के खिलाफ भी ईडी ने मनी लॉन्ड्रिंग का मुकदमा दर्ज किया था. बात करें उनपर लगे आरोपों की तो उनपर ऐसे आरोप हैं कि, उनके नाम से कई बेनामी कंपनियों का पता चला था और इस मामले में पिछले साल पुलिस ने अतीक की कुल 16 कंपनियां चिह्नित की थीं. इन कंपनियों में नाम तो किसी और का है लेकिन परोक्ष रूप से इनमें पैसा अतीक का लगा है. जानकारी ऐसी भी मिली है कि, इनमें से ज्यादातर कंपनियों का कारोबार रियल इस्टेट से संबंधित है. इन कंपनियों का लेनदेन करोड़ों में किया गया है. वहीं, इनमें से आठ कंपनियां ऐसी हैं जिनके बारे में यह नहीं स्पष्ट हो सका है कि उनका मालिक कौन है.

मालूम हो कि, पंजाब के रूपनगर जिले की जेल में बंद गैंगस्टर मुख्तार अंसारी को उत्तर प्रदेश वापस लाया गया था. रंगदारी के एक मामले में अंसारी जनवरी 2019 से पंजाब की जेल में बंद थे. इसके बाद यूपी पुलिस ने मुख्तार अंसारी को हिरासत में लेकर यूपी की बांदा जेल में बंद किया लेकिन अब इन तीनों ही नेताओं की मुसीबतें बढ़ती दिख रहीं हैं.