इस्तीफे के बाद सिद्धू ने जारी किया पहला वीडियो संदेश, पंजाब राजनीति को लेकर कही ये बात

नवजोत सिंह सिद्धू ने कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष के पद से इस्तीफा दे दिया है जिससे राजनीतिक सियासत गर्मायी हुई है. इस बीच नवजोत सिंह सिद्धू ने बुधवार को एक वीडियो संदेश जारी किया है. नवजोत सिंह सिद्धू के इस्तीफे की पीछे की वजह अभी पूरी तरह से साफ नहीं हो पाई लेकिन कयास लगाए जा रहें हैं कि उनकी वर्तमान सीएम चन्नी से बन नहीं रही थी.


सिद्धू ने अपने जारी वीडियो में कहा, ‘प्यारे पंजाबियों, 17 साल का राजनीतिक सफर एक मकसद के साथ किया है. पंजाब के लोगों की जिंदगी को बेहतर करना और मुद्दों की राजनीति करना. यही मेरा धर्म था और यही मेरा फर्ज है, मैंने कोई निजी लड़ाई नहीं लड़ी है. मेरी लड़ाई मुद्दों की है, पंजाब का अपना एक एजेंडा है. इस एजेंडे के साथ मैं अपने हक-सच की लड़ाई लड़ता रहा हूं, इसके लिए कोई समझौता है ही नहीं.’


नवजोत सिंह सिद्धू ने अपनी वीडियो में आगे कहा कि, ‘मेरे पिता ने एक ही बात सिखाई है, जहां भी मुश्किल खड़ी हो तो सच की लड़ाई लड़ो. जब मैं देखता हूं कि सच के साथ समझौता हो रहा है, जब मैं देखता हूं कि जिन्होंने कुछ वक्त पहले बादल सरकार को क्लीन चिट दी, बच्चों पर गोलियां चलाई उन्हें ही इंसाफ की जिम्मेदारी दी थी. जिन्होंने खुलकर बेल दी है, वो एडवोकेट जनरल हैं.’


इतना ही नहीं सिद्धू बोले, ‘मैं ना ही हाईकमान को गुमराह कर सकता हूं और ना ही गुमराह होने दे सकता हूं. पंजाब के लोगों के लिए मैं किसी भी चीज़ की कुर्बानी दूंगा, लेकिन अपने सिद्धांतों पर लड़ूंगा. दागी नेता, दागी अफसरों की वापसी कर वही सिस्टम खड़ा नहीं किया जा सकता है’. आपको बताते चलें कि, 4 मिनट 29 सेकंड के अपने वीडियो संदेश में सिद्धू ने कई और पंजाब से जुड़ी बातें कहीं. वहीं, खबर ऐसी भी है कि, पंजाब के वर्तमान सीएम चरणजीत चन्नी सिद्धू को मनाने की हर संभव कोशिश करेंगे.