महंत नरेंद्र गिरि: सीसीटीवी फुटेज से सामने आया नया मोड़, पुलिस कर रही जांच

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि ने दुनिया को अलविदा कह दिया है. महंत नरेंद्र गिरि सोमवार शाम उत्तर प्रदेश के प्रयागराज के बाघंबरी मठ में अपने कमरे में मृत पाए गए.

मिली जानकारी के मुताबिक, एक सुसाइड नोट बरामद किया गया है जिसने लोगों के बीच हलचल तेज कर दी है. इसके अलावा पुलिस के हाथ भी एक बड़ा सबूत आया है जिससे महंत नरेंद्र गिरि की मौत के संबंध में कई और राज खुल सकते हैं.

दरअसल, पुलिस को उस कमरे के बाहर लगे सीसीटीवी की फुटेज हाथ लगी है जहां महंत नरेंद्र गिरि मृत पाए गए थे. पुलिस उस सीसीटीवी फुटेज की जांच कर रही है. सीसीटीवी फुटेज के सामने आने पर कई बड़ी बातें सामने आ सकती हैं, कई लोगो का नाम भी सामने आ सकता है. इसके अलावा ये फुटेज विवादों का भी हिस्सा बन सकती है.

वहीं, प्रयागराज के पुलिस महानिरीक्षक केपी सिंह के मुताबिक, कमरे का दरवाजा अंदर से बंद था. उन्होंने बताया कि, उस कमरे से एक सुसाइड लेटर मिला है.

आपकों बता दें कि, महंत नरेंद्र गिरि महाराज भारतीय अखिल अखाड़ा परिषद के प्रमुख थे, उन्होंने अपने जीवन का बहुमूल्य समय अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के लिए ही समर्पित किया. महंत नरेंद्र गिरी जी ने राम मंदिर आंदोलन में भी बखूबी साथ दिया.

महंत नरेंद्र गिरी प्रकृति से भी बहुत प्यार करते थे. महंत नरेंद्र गिरि जी के सुझाव पर ही मध्यप्रदेश के वन विभाग ने शिप्रा नदी के किनारे पर पौधारोपण कार्यक्रम की शुरुआत की थी.

वहीं, सोमवार शाम हुई महंत नरेंद्र गिरि की मौत से हर किसी को सदमा लगा है. जानकारी ऐसी मिली कि, महंत नरेंद्र गिरी दोपहर के भोजन के बाद अपने कमरे में थे. शिष्यों ने उन्हें पुकारा. शिष्यों के बार-बार बुलाने पर कमरे से कोई आवाज नहीं आयी, जिसके बाद उनके शिष्यों ने दरवाजा तोड़ा और कमरे में प्रवेश किया, तब महंत जी मृत पाए गए. बताते चलें कि, महंत नरेंद्र गिरि की मौत पर अधिकतर लोग ट्वीट कर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित कर रहें हैं.