महिलाओं के साथ सोने को लेकर देव आनंद ने कही थी ये बात, यहां पढ़ें पूरा किस्सा

Birth Anniversary: देव आनंद

Birth Anniversary: देव आनंद

बॉलीवुड के एवरग्रीन एक्टर देव आनंद (Dev Anand) की आज 99वीं बर्थ एनिवर्सरी है। देव आनंद हिंदी फिल्म इंडस्ट्री में किए गए अपने रोमांटिक रोल के लिए काफी पॉपुलर रहे थे। उन्होंने अपने करियर में 'सीआईडी' (CID), 'काला पानी' (Kala Pani), 'गाइड' (Guide), 'हम दोनो' (Hum Dono) और 'ज्वेल थीफ' (Jwel Theif) जैसी कई हिट फिल्मों की लाइन लगा दी थी। उन्होंने अपने करियर की शुरुआत साल 1946 में 'हम एक हैं' (Hum Ek Hain) फिल्म के साथ की थी। इसके बाद वह सिंगर और एक्ट्रेस सुरैया (Suraiya) के साथ कई फिल्मों में नजर आए। जब वह दोनो साथ में काम कर रहे थे उनके बीच रियल लाइफ में चल रहे रोमांस की चर्चा होनें लगी। आज एक्टर की जन्मतिथी पर प्यार को लेकर के देव आनंद कैसा महसूस करते थे इस बारें में थोड़ी बाते करेंगे...


एक मीडिया से बातचीत करते हुए अपने एक इंटरव्यू में देव आनंद ने कहा था कि वह हमेशा ही प्यार में रहते हैं। साल 2008 में एक मीडिया को दिए गए अपने इंटरव्यू में देव आनंद ने कहा, "रोमांस खूबसूरत है। मैं हमेशा प्यार में हूं। लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि आप हर समय महिलाओं के साथ सो रहे हैं। यहां तक कि एक खूबसूरत लड़की के बारे में सोचना या कविता पढ़ना भी रोमांटिक है।" सिंगर और एक्ट्रेस सुरैया का रोमांस काफी चर्चित रहा है। उन्होंने इस बारे में बात भी की थी और कंफर्म भी किया था कि जब उन्होंने साथ काम करना शुरू किया तो उन्हें प्यार हो गया। देव ने सुरैया को अपना पहला प्यार कहा और दावा किया कि यह भावुक और बहुत इंटेंस था। देव आनंद ने अपनी आत्मकथा, रोमांसिंग विद लाइफ में जीनत अमान के प्रति अपने अट्रैक्शन के बारे में भी बात की।


फिल्म एक्ट्रेस जीनत अमान (Zeenat Aman) के बारें में बात करते हुए देव आनंद ने बताया था कि उन्हें एक्ट्रेस से प्यार हो गया था। अपनी किताब में देव आनंद ने लिखा, "जब भी और जहां भी उनकी बात की गई, मुझे अच्छा लगा, और जब भी और जहां भी मेरी चर्चा हुई, तो वह खुश हो गईं। हम इमोशनली एक दूसरे से अटैच हो गए थे। अचानक, एक दिन मुझे लगा कि मैं ज़ीनत से बेहद प्यार करता हूं - और उससे ऐसा कहना चाहता था! एक ईमानदार कन्फेशन करने के लिए रोमांस के लिए एक बहुत ही खास, एक एक्सक्लूसिव जगह पर। मैंने शहर के शीर्ष पर ताज में रेंडीज़वस को चुना, जहां हमने एक बार पहले एक साथ भोजन किया था।" लेकिन राज कपूर (Raj Kapoor) के साथ उसी जगह पर जीनत अमान को देखकर देव आनंद ने कभी एक्ट्रेस को प्रपोज़ नहीं किया। देव आनंद की किताब जब बाहर आयी तब जीनत अमान ने कहा कि उन्हें एक्टर की फीलिंग्स के बारें में पता ही नहीं था।

पंजाब के गुरदासपुर में जन्में देव आनंद का छः दशकों का लंबा फिल्मी करियर रहा है। उन्हें अपने फिल्मी करियर के लिए साल 2002 में दादा साहब फाल्के अवॉर्ड से सम्मानित भी किया गया। साल 1975 में तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी (Indira Gandhi) द्वारा लगाए गए आपातकाल के खिलाफ उन्होंने एक फिल्मी हस्तियों के ग्रुप को लीड भी किया था। एक्टर, डायरेक्टर और प्रोड्यूसर देव आनंद ने अंतिम समय तक काम किया। उनका लास्ट प्रोजेक्ट चार्जशीट 2011 में उनकी मृत्यु से कुछ महीने पहले रिलीज़ हुई थी। साल 2011 के दिसंबर में हार्ट अटैक के चलते देव आनंद ने इस दुनिया को अलविदा कह दिया।