महंत नरेंद्र गिरि के सुसाइड नोट में क्या?…..जानिए कौन-कौन पहुंचे अंतिम दर्शन के लिए !

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि का शव 20 सितम्बर को उत्तर प्रदेश के प्रयागराज स्थित बाघंबरी मठ के कमरे से फांसी के फंदे से लटकता मिला था। पुलिस ने उनके कमरे से आठ पन्नों का सुसाइड नोट बरामद किया है। महंत नरेंद्र गिरि ने सुसाइड नोट में शिष्य आनंद गिरि समेत आद्या तिवारी और संदीप तिवारी का जिक्र किया था। नरेंद्र गिरि ने सुसाइड नोट में अपने शिष्य से नाराजगी की बात लिखी है. पुलिस के मुताबिक नरेंद्र गिरी ने सुसाइड नोट में आत्महत्या की बात लिखी है और वसीयतनामा भी लिखा है. मामले में अखाड़े की संपत्ति पर अधिकार का विवाद सामने आ रहा है. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि महंत नरेंद्र गिरि ने आनंद गिरि को अखाड़े से बाहर कर दिया था. पुलिस ने सुसाइड नोट के आधार पर बीती रात हरिद्वार से आनंद गिरि को हिरासत में लिया फिर आद्या तिवारी और संदीप तिवारी को भी हिरासत में ले लिया। मालूम हो की आद्या तिवारी लेटे हनुमान जी मंदिर के वरिष्ठ पुजारी हैं और संदीप तिवारी उनके बेटे हैं.

पुलिस ने महंत नरेंद्र गिरि के कमरे से सुसाइड नॉट के साथ साथ उनका मोबाइल भी बरामद किया है। पुलिस के हाथ एक वीडियो लगी है जो महंत जी ने मरने से ठीक पहले बनाया था। नरेंद्र गिरी ने अपने फ़ोन में 4 मिनट की वीडियो बनाई है। पुलिस ने नरेंद्र गिरि के मोबाइल को जब्त कर लिया है और फॉरेंसिक जांच के लिए भेज दिया है।

निरंजनी अखाड़े के पंच परमेश्वर के पहुंचने के बाद दिन के 11:30 बजे से महंत नरेंद्र गिरी के पार्थिव शरीर का अंतिम दर्शन शुरू हुआ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अंतिम दर्शन के लिए प्रयागराज के बाघंबरी मठ पहुंचे। यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने नरेंद्र गिरि जी महाराज के निधन पर अत्यंत दुखी जताया। योगी ने कहा ”संत समाज और यूपी सरकार की ओर से उन्हें श्रद्धांजलि देने के लिए स्वयं उपस्थि हुआ हूं। साथ ही उन्होंने यह भी बताया की साल 2019 में कुंभ के आयोजन में नरेंद्र गिरि जी का पूरा सहयोग मिला था। सीएम योगी आदित्यनाथ द्वारा बताया गया कि महंत नरेंद्र गिरि के पार्थिव शरीर का कल यानि 22 सितम्बर को पोस्टमार्टम किया जाएगा और उसके बाद ही उन्हें समाधि दी जाएगी। योगी आदित्यनाथ ने आगे कहा, ‘एक-एक घटना का पर्दाफाश किया जाएगा और जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी।’ उत्तर प्रदेश के उप-मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य और यूपी सरकार के मंत्री बृजेश पाठक भी अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि के पार्थिव शरीर के अंतिम दर्शन बाघंबरी मठ पहुंचे।
धार्मिक और अध्यात्मिक समाज की इस अपूरणीय क्षति को लेकर राजनैतिक गलियों में शोक की लहर है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी ट्वीट के जरिये करते हुए महंत नरेंद्र गिरि के निधन पर शोक जताया है।पीएम ने ट्वीट करते हुए लिखा , ‘अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष श्री नरेंद्र गिरि जी का देहावसान अत्यंत दुखद है. आध्यात्मिक परंपराओं के प्रति समर्पित रहते हुए उन्होंने संत समाज की अनेक धाराओं को एक साथ जोड़ने में बड़ी भूमिका निभाई. प्रभु उन्हें अपने श्री चरणों में स्थान दें. ॐ शांति!!