तालिबान से हाथ मिलाने को तैयार बैठे देशों पर भड़के Javed Akhtar, बोले- 'कितनी ...'

तालिबान से हाथ मिलाने को तैयार बैठे देशों पर भड़के Javed Akhtar, बोले- 'कितनी शर्म की बात है...' 

तालिबान से हाथ मिलाने को तैयार बैठे देशों पर भड़के Javed Akhtar, बोले- 'कितनी शर्म की बात है...' 

Javed Akhtar :  फेमस सिंगर और फिल्म लेखक जावेद अख्तर (Javed Akhtar)  तालिबान (Taliban) के मुद्दे को लेकर काफी चितिंत है। उन्होंने एक बार फिर इस मामले में अपनी बात रखी है। जावेद अख्तर ने अपने ट्वीट में तालिबान का सपोर्ट करने वाले लोकतांत्रिक देशों को आड़े हाथों लिया है। उन्होंने कहा कि यह शर्म की बात है कि तथाकथित सभ्य और लोकतांत्रिक देश तालिबान से हाथ मिलाने को तैयार हैं।

जावेद अख्तर ने अपने ट्वीट में लिखा - ''तालिबान के स्पोकपर्सन ने दुनिया को बताया कि महिलाएं मंत्री बनने के लिए नहीं बल्कि घर पर रहने और बच्चे पैदा करने के लिए है, लेकिन दुनिया के तथाकथित सभ्य और लोकतांत्रिक देश तालिबनियों से हाथ मिलाने को तैयार है, शर्म की बात है''

दरअसल, जावेद अख्तर का ट्वीट तालिबान के प्रवक्ता सैयद ज़करुल्ला हाशिमी के उस बयान को लेकर है, जिसमें उन्होंने कहा था कि महिलाओं के लिए कैबिनेट में होना जरूरी नहीं है और उन्हें "जन्म देना चाहिए"।

जावेद अख्तर ने शुक्रवार को एक ट्वीट में कहा, "हर सभ्य व्यक्ति, हर लोकतांत्रिक सरकार, दुनिया के हर सभ्य समाज को तालिबान को अफगान महिलाओं के निर्मम दमन के लिए पहचानने और निंदा करने से इनकार करना चाहिए या न्याय, मानवता और विवेक जैसे शब्दों को भूल जाना चाहिए।" .