Lata Mangeshkar: इस वजह से उम्रभर अधूरी रही प्रेम कहानी…एक बार खाने में भी दिया गया जहर, खुद किया खुलासा

भारत की कोकिला यानी कि लता मंगेश्कर का नाम सुनते ही लोग संगीत की दुनिया में खो जाते हैं. लता मंगेश्कर का जन्म 28 सितंबर 1929 को मध्य प्रदेश के इंदौर में हुआ था और आज वो अपना 92वां जन्मदिन मना रहीं हैं. बता दें कि 28 सितंबर को जन्मीं लता मंगेश्कर पंडित दीनानाथ मंगेशकर की बड़ी बेटी हैं.


लता मंगेश्कर के जन्मदिन के खास मौके पर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्हें बधाई दी है. लता मंगेश्कर ने अपनी जिंदगी में कई उतार-चढ़ावों का सामना किया है. एक रिपोर्ट के अनुसार, लता जी को पहली बार स्टेज पर गाने के लिए 25 रुपए मिले थे जिसे वो अपनी पहली कमाई मानती हैं. लताजी ने पहली बार 1942 में मराठी फिल्म ‘किती हसाल’ के लिए गाना गाया और धीरे-धीरे वो कामयाबी की सीढ़ियां चढ़ने लगी.


इसके अलावा लोगों के जहन में हमेशा से ये प्रश्न रहा है कि लता मंगेश्कर ने शादी क्यों नहीं की. दरअसल, उन्होंने एक इंटरव्यू में बताया था कि, घर के सभी सदस्यों की ज़िम्मेदारी मुझ पर थी. ऐसे में कई बार शादी का ख़्याल आता भी तो उस पर अमल नहीं कर सकती थी. बेहद कम उम्र में ही मैं काम करने लगी थी. मेरे पास बहुत ज़्यादा काम रहता था. मैनें सोचा अपने भाई-बहनों को व्यवस्थित कर दूं. इसके बाद बहन की शादी हो गई और उनके बच्चे हो गए. उन्हें संभालने की जिम्मेदारी भी मुझ पर आ गई थी.


आपको बता दें कि, महज 13 साल की छोटी उम्र में ही लता जी के सिर से उनके पिता का साया उठ गया था इसलिए घर की बड़ी होने के कारण परिवार की सारी जिम्मेदारियां उनपर आ गई थीं और उन्होंने शादी ना करने का फैसला लिया.
वहीं, उस दौरान खबर ऐसी भी थी कि, करीब 33 साल की उम्र में उनके साथ एक ऐसी घटना घटी कि वो तकरीबन तीन महीनों तक बिस्तर से नहीं उठ पाईं. जानकारी के मुताबिक, लता जी के पेट में अचानक दर्द हुआ था और फिर उल्टियां होने लगी. उनकी बिगड़ती हालत को देख फौरन डॉक्टर को बुलाया गया. जिसके बाद डॉक्टर ने बताया कि उन्हें स्लो पॉयजन यानी कि हल्का जहर दिया जा रहा है.


आपको बताते चलें कि, उन्हें संगीत जगत में पहचान फिल्म महल के गाने ‘आएगा आने वाला’ से मिली थी. मालूम हो कि, लता मंगेशकर ने दुनियाभर की 36 भाषाओं में 50 हजार से भी ज्यादा गाना गाए हैं जिसके लोग आज भी दीवाने हैं.