28वें स्थापना दिवस के मौके पर पीएम मोदी ने बताईं देश की उपलब्धियां, छोटे शब्दों में समझें पूरी बात

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (NHRC) के 28 वें स्थापना दिवस के मौके पर वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए संबोधित किया. उन्होंने देश के विकास को लेकर कई बातें कहीं हैं.


पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि, देश ने कई मौके पर विश्व का मार्गदर्शन किया है. देश ने दुनिया को अहिंसा का पाठ सुझाया है. स्थापना दिवस के खास मौके पर पीएम मोदी ने कहा कि, एक ऐसे समय में जब पूरी दुनिया विश्व युद्ध की हिंसा में झुलस रही थी तब भारत ने पूरे विश्व को ‘अधिकार और अहिंसा’ का मार्ग सुझाया. उन्होंने कहा कि, ‘सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास और सबका प्रयास’ पर देश आज काम कर रहा है.


पीएम मोदी ने अपने संबोधन में संघर्षों को लेकर कहा कि, हमने सदियों तक अपने अधिकारों के लिए संघर्ष किया. एक राष्ट्र के रूप में, एक समाज के रूप में अन्याय-अत्याचार का प्रतिरोध किया. देश के विकास के तहत पीएम मोदी के अनुसार, जो गरीब कभी शौच के लिए खुले में जाने को मजबूर था, उस गरीब को जब शौचालय मिलता है, तो वह गौरवान्वित महसूस करता है. जो गरीब कभी बैंक के अंदर जाने की हिम्मत नहीं जुटा पाता था, उस गरीब का जब जनधन अकाउंट खुलता है, तो उसमें हौसला आता है, उसका गौरव बढ़ता है. बताते चलें कि इसके अलावा भी पीएम मोदी ने अपने संबोधन में महिला अधिकारों, महिला सुरक्षा और देश के विकास आदि को लेकर कई बातें कहीं.