सीएम चन्नी के बेटे की शादी में शामिल नहीं हुए सिद्धू, ट्टीट कर सरकार को दी ये सलाह

रविवार को पंजाब के मुख्यमत्री चरणजीत चन्नी ने अपने बेटे की शादी बड़ी ही सादगी के साथ की. ये शादी बिना किसी सुरक्षा व वीआईपी तामझाम के साथ हुई. इतना ही नहीं सीएम चन्नी खुद कार चलाकर गुरुद्वारा सच्चा धनसिंह साहिब पहुंचे थे.

सिख रीति-रिवाजों के अनुसार ‘आनंद कारज’ गुरुद्वारा सच्चा धन में सम्पन्न किया गया. इसके बाद बाद सभी ने ,चाहे वीईपी हो या आम नागिरक, सभी ने जमीन पर बैठकर लंगर लिया.  वहीं प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे चुके नवजोत सिंह सिद्धू समारोह से दूर रहे. सीएम चरणजीत सिंह चन्नी के बेटे की शादी में ना शामिल होने से लोग उनकी नाराजगी को जोड़कर देख रहे हैं.

वहीं नवजोत सिंह सिद्धू  लखीमपुर से वैष्णों देवी गए थे वहां उन्होंने एक ट्टीट करते हुए सरकार को सलाह दी है , उन्होंने कहा है कि पंजाब को बिजली संकट को खत्म करने और इसकी तैयारी पर ध्यान देना होगा ना कि पश्चाताप और मरम्मत पर… प्राइवेट थर्मल प्लांट गाइडलाइन का उल्लघंन करते हुए घरेलु उपभोक्ताओं को परेशान कर रहे हैं. जिन प्लांट्स के पास 30 दिन का कोयला नहीं बचा है, उन्हें दंड दिया जाना चाहिए. ये ग्रिड से कनेक्ट होने वाले सोलर पावर प्लांट, छत पर लगाए जाने सोलर प्लांट पर आक्रामक रूप से काम करने का है.’

बता दें कि सीएम चरमणजीत सिंह चन्नी के बेटे नवजोत सिंह की शादी मोहाली जिले के डेरा बस्सी के पास अमलाला गांव की रहने वाली इंजीनियरिंग ग्रेजुएट सिमरनधीर कौर से शादी की है. ‘