हवाई जहाज का रंग सफेद ही क्यों होता है?जानें इसके पीछे की वजह

हवाई जहाज में सफर करना हर कोई पसंद करता है. ऐसे दुनिया में कई लोग हैं जिन्होंने हवाई जहाज में सफर नहीं है लेकिन हवाई जहाज देखा तो सबने जरूर होगा. आपने देखा होगा कि हवाईजहाज का रंग सफेद होता है लेकिन क्या कभी किसी ने अपने दिमाग पर जोर दिया है कि आखिर हवाई जहाज का रंग सफेद ही क्यों होता है, आखिर क्या कारण है इसके पीछे का? आइये जानते हैं इसके बारे में…

दरअसल इसके पीछे एक वैज्ञानिक कारण बताया जाता है कि जब व्हाइट कलर का प्लेन सूरज की किरणों से बचाता है. सफेद रंग की गर्मी का कुचालक होता है. रनवे से लेकर आसमान तक हवाी जहाज हमेसा धूप में ही रहता है.चाहें रनवे पर हो या फिर आसमान पर हमेशा सूरज की किरणें प्लेन पर सीधी ही पड़ती है.

सूरज की सीधे किरणें पड़ने के कारण प्लेन में अंदर भयंकर गर्मी हो सकती है. इस वजह से सफेद रंग प्लेन में गर्मी होने से बचाता है. कहा जाता है कि सफेद  सूरज की किरणों को  99 परसेंट तक रिफ्लेक्ट कर देता है.

इसके अलावा यदि प्लेन में कोई भी दरार आती है तो वो सफेद रंग की वजह से आसानी से दिख जाती है. यदि प्लेन कालें रंग का होता तो उसमें दरारें छिप सकती थी, सफेद रंग प्लेन की मेंटेनेंस के लिए ठीक रहता है. बता दें कि सफेद रंग का वजन  बाकी अन्य रंगो की तुलना में काफी कम होता है, जो कि आसमान में उड़ने के लिए जरूरी होता है.