दिल्ली में मंडरा रहा ये बड़ा संकट, पूरी दिल्ली को करना होगा अंधेरे का सामना! सीएम केजरीवाल ने चिंता जताते हुए पीएम मोदी को लिखा पत्र

देश की राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में बिजली संकट एक बड़ा खतरा बनता जा रहा है. कहा गया है कि पावर प्लांट्स में कोयले का भारी संकट है. बिजली संकट को लेकर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पत्र लिखा है.


मिली जानकारी के मुताबिक, टाटा पावर ने दिल्ली में ग्राहकों को संदेश भेजा. टीपीडीडीएल ने कहा है कि, पावर पलांट्स में कोयले का भारी संकट है जिसके चलते दोपहर 2 बजे से शाम 6 बजे तक बिजली की सप्लाई में दिक्कत हो सकती है.

आपको बता दें कि, गहरे बिजली संकट को देखते हुए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पीएम नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर बिजली की आपूर्ति करने वाले पावर प्लांट्स को पर्याप्त कोयला और गैस देने के लिए प्रधानमंत्री कार्यालय से हस्तक्षेप करने का अनुरोध किया है.


अरविंद केजरीवाल ने अपने पत्र में लिखा है कि, अगस्त और सितंबर के बाद ये लगातार तीसरा महीना है जब बिजली उत्पादन पर असर पड़ रहा है. उन्होंने केंद्रीय विद्युत विनियामक आयोग की तरफ से बनाए गए नियम का हवाला देते हुए अपने पत्र में आगे कहा है कि पावर प्लांट को 10 से 20 दिन का कोयले का स्टॉक रखना होता है, लेकिन 5 पावर प्लांट के पास 1 दिन से भी कम का कोयला बचा है जिसका असर गैस स्टेशन पर पड़ रहा है. अगर ऐसे ही हालात बने रहे तो दिल्ली में भीषण बिजली संकट देखने को मिल सकता है. हालांकि, दिल्ली के ऊर्जा मंत्रालय के अनुसार, केवल दिल्ली ही नहीं ब्लकि कोयले की कमी से पूरे उत्तर भारत में समस्या हो सकती है. जानकारी के मुताबिक, राजधानी में अभी बिजली संकट नहीं हैं. इसके साथ ही आगे कई बैठक हो सकती हैं जिसमें बिजली संकट को लेकर अहम मुद्दे पर चर्चा हो सकती है.