कौन है वो कातिल जिसने रोजी-रोटी देने वाले को ही मौत के घाट उतर दिया ?

सिंघु बॉर्डर पर हुए दर्दनाक घटना को लेकर एक बड़ा खुलासा हुआ है। दरअसल लखबीर सिंह की हत्या को लेकर शुक्रवार देर शाम को एक निहंग ने पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया। निहंग ने दावा करते हुए पुलिस के सामने कुबूला की किसान की हत्या उसी ने की है। पुलिस निहंग बने सरवजीत सिंह को शनिवार को कोर्ट में पेश करेगी, लेकिन उससे पहले उसका मेडिकल करवाया जाएगा।इस घटना का एक वीडियो भी वायरल हुआ था, जिसमें लखबीर सिंह को बैरिकेड से लटकाया हुआ दिखाया गया था। पुलिस उस वीडियो के जरिए अब सरवजीत सिंह की पहचान करेगी।

गौरतलब है कि किसान आंदोलन के लिए बने मंच के पास से दलित शख्स लखबीर सिंह की हत्या कर उसके शव से हाथ को अलग करके बैरिकेड पर लटका दिया गया था। सुबह मामले के सामने आते ही देशभर में हड़कंप मच गया। बता दें लखबीर सिंह पंजाब के तरन-तारन जिले के चीमा खुर्द गांव का रहने वाला था। लखबीर की उम्र लगभग 35-36 साल बताई जा रही है। लखबीर सिंह की तीन बेटियां हैं, जोकि अपनी मां के साथ रहती हैं। लखबीर के माता-पिता की पहले ही मौत हो चुकी है।

किसान तीनो नए कृषि कानूनों को वापस लेने के लिए दिल्ली, हरियाणा और उत्तर प्रदेश की अलग-अलग सीमाओं पर धरना दे रहे हैं। इस धरने को 9 महीने से अधिक का समय बीत चुका है। मालूम हो की किसान संगठनों और सरकार के बीच कई बार बैठकें भी हुईं, मगर अबतक कोई निष्कर्ष नहीं निकला है। सरकार का कहना है कि वह कानूनों को वापस नहीं लेगी जबकि किसानों का कहना है कि वे लोग कृषि कानूनों की वापसी से पहले नहीं हटेंगे। हालांकि सरकार किसानो के बताए हर संभव बदलाव करने को तैयार है।