अफगनिस्तान में बढ़ी टेन्शन चीन ने उतार डाले अपने मिलिटरी विमान?

अमेरिकी सेना की मंदी के बाद पहली बार अफगानिस्तान के बगराम एयरबेस पर सैन्य विमानों को ले जाते देखा गया है। दावा किया गया है कि ये चीनी सेना के विमान हो सकते हैं। इतना ही नहीं अब बगराम एयरबेस की लाइटें भी चालू कर दी गई हैं। आइए जानते हैं पूरा मामला।


दरअसल, बगराम एयरबेस अमेरिकी सेना का मजबूत किला रहा है। फिलहाल से वह ऑपरेशन कर रही है। ‘डायरनल मैटर’ की रिपोर्ट के मुताबिक, अफगानिस्तान से अमेरिकी सेना के जाने के बाद वहां (बग्राम एयरबेस) सैन्य विमानों के पहुंचने की कई खबरें आई हैं। कुछ फिल्मलैंड भी सामने आए हैं, जिसमें एयरबेस पर बिजली बहाल कर दी गई है।
बताया गया कि अमेरिका के जाने के बाद चीन एयरबेस हासिल करने में दिलचस्पी ले रहा है। इस बीच, कई सैन्य विमानों ने उड़ान भरी और बगराम एयरबेस पर उतरे। यह दावा किया गया था कि ये हवाई जहाज चीनी सेना के हैं, क्योंकि तालिबान को संबंधित विमान उड़ाने का कोई अनुभव नहीं है।
रिपोर्ट के मुताबिक यह सब ऐसे समय में हो रहा है जब चीनी मामलों के विशेषज्ञ यून सून ने कहा है कि अमेरिका की वापसी के बाद अब चीन बगराम एयरबेस को शामिल करने में काफी दिलचस्पी ले सकता है। यह एयरबेस अफगानिस्तान की राजधानी काबुल के पास है, जो लगभग 20 युगों तक अमेरिकी सेना द्वारा लगाया गया था।

यूएस न्यूज एंड वर्ल्ड रिपोर्ट के मुताबिक, चीन अपने सैन्य बल और मोटे विकास पदाधिकारियों को बगराम एयरबेस पर भेजने पर विचार कर रहा है। हालांकि चीनी विदेश मंत्रालय के मुंह ने इस रिपोर्ट का खंडन किया है।