लखनऊ में लगे राहुल के खिलाफ पोस्टर, लिखा नहीं चाहिए फर्जी सहानुभूति’

लखीमपुर खीरी की हिंसा के बाद विपक्ष राजनीति करने में लगा हुआ है. राजनीति पार्टियां यूपी सरकार पर लगातार हमला बोल रही है. माहौल बिगाड़ने के लिए विपक्ष के नेता लखीमपुर जाने पर अड़े हुए हैं लेकिन प्रशासन की ओर से कड़ा कदम उठाया जा रहा है जिससे शांति का माहौल बन रहें. जहां प्रियंका गांधी को लखीमपुर पहुंचने से पहले ही पुलिस ने हिरासत में ले लिया था वहीं राहुल गांधी भी लखीमपुर जाने की जिद पर अड़े हुए हैं.

इसी बीच अब लखनऊ के आलमपुर में राहुल गांधी व प्रियंका गांधी के पोस्टर लगाएं गए है, जो कि गुरूनानक कमेटी आलमपुर की ओर से लगे हैे. यहां सिख समाज के लोग प्रिंयका और राहुल गांधी को वापस जाने के लिए कह रहे हैं. ,साथ ही इन पोस्टर पर लिखा है कि हमें झूठी सहानुभूति नहीं चाहिए.

इससे साफ-साफ पता चलता है कि किसान भी समझ चुका है कि गांधी काग्रेंस पीडित परिवार से  मिलने की एवज में कांग्रेस अपना काम साधना चाहती है. इसी के साथ एक पोस्टर में लिखा है कि जिन लोगों ने 1984 में कत्लेआम किया उनका साथ नहीं चाहिए हम न्याय की लड़ी लड़ रहे हैं, हमें दंगाइयों का साथ नहीं चाहिए.

बता दें कि इस तरह के पोस्टर लखनऊ में कई जगह पर लगे हुए हैं, इन पोस्टर्स के जरिए किसान राहुल और प्रियंका को कातिल बता रहे हैं. वहीं प्रियंका को हिरासत में लेने के बाद काग्रेंस के कई नेता लखीमपुर जाने की जिद पर अडे हैं जिन्हें प्रशासन की तरफ से छूट नहीं मिली है.