पंजाब में कोंग्रस करने वाली है ये बड़ा बदलाव,हरीश चौधरी संभाल सकते है ये पद

पंजाब कांग्रेस में सियासी भूचाल जारी है। इस बीच कांग्रेस आलाकमान ने प्रदेश में बदलाव के लिए चमत्कारी दवा बना ली है। बताया जा रहा है कि उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत को पंजाब के राज्य प्रभारी के पद से हटाया जा सकता है. उनकी जगह हरीश चौधरी को यह जिम्मेदारी दी जा सकती है।
पंजाब में पिछले 15 दिनों से एक के बाद एक बड़े बदलाव हो रहे हैं. वर्तमान में कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पंजाब के मुख्यमंत्री के पद से इस्तीफा दे दिया है। इसके बाद चरणजीत सिंह चन्नी को राज्य का नया सीएम बनाया गया। इस बीच पंजाब के प्रदेश अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू ने भी इस्तीफा दे दिया। रावत, पंजाब के प्रभारी रहते हुए, इन मुद्दों को सुलझाने में अब तक अप्रभावी साबित हुए हैं।


दरअसल, अमरिंदर सिंह के आलिंगन के बाद हरीश रावत ने सिद्धू को आने वाले संकल्पों में कांग्रेस का चेहरा बताया था। रावत ने कहा था, पार्टी ने पहले चरणजीत सिंह चन्नी को लेकर अपना मन बना लिया था। आने वाले चुनावों में कांग्रेस का चेहरा कौन होगा यह कांग्रेस अध्यक्ष तय करेंगे। हालांकि, इस बार या तो चुनाव पंजाब सरकार की कोठरी और प्रदेश अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू के नेतृत्व में लड़ा जाएगा, अगर मौजूदा हालात पर नजर डालें।

रावत के इस बयान पर प्राचीन कांग्रेस नेता सुनील जाखड़ ने आपत्ति दर्ज कराई थी। उन्होंने कहा था कि हरीश रावत द्वारा चरणजीत सिंह चन्नी के वादे के दिन दिया गया बयान चौंकाने वाला है. यह मुख्यमंत्री की शक्ति को कमजोर करता है और साथ ही किसी के चयन पर सवाल उठाता है। वहीं, पंजाब से कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी ने भी रावत के नेतृत्व पर सीधा सवाल उठाया था. मनीष तिवारी ने कहा था कि जिन लोगों को पंजाब की जिम्मेदारी दी गई है, उनकी वहां कोई समझ नहीं है.