जम्मू-कश्मीर में लोगों को घरों में ही रहने का निर्देश, आतंकवादियों के खिलाफ सेना का अंतिम प्रहार शुरू

जम्मू -कश्मीर में आतंकवादियों की और से गैर कश्मीरी नागरिकों की ह’त्या के बाद से अब सेना ने पूरी तरह से कमर कस ली है. छिपे हुए आतंकवादियों को अब खोज खोजकर मा’रा जाएगा, जानकारी देते हुए बता दें कि  जम्मू कश्मीर के पुंछ और राजौरी जिलों में वन क्षेत्र में आतंकवाद निरोधक अभियान को मंगलवार को नौ दिन हो गये हैं , लाउडस्पीकर की मदद से लोगों को घर के अंदर रहने के लिए कहा गया. जंगलों में छिपे हुए आंतकवादियों को निकालकर सेना उनपर हम’ले करने की तैयारी में लगी है.

इलाके की आसपास मंस्जिदों से घोषणा करवाई है कि कोई भी जंगल की तरफ ना जाएं इसके साथ ही अपने पशुओं के साथ घर पर ही रहें, यदि कोई बाहर गया है तो वो जल्द से जल्द अपने घर में वापस लौट आए. इस पूरे अभियान में अभी तक नौ सुरक्षाकर्मी अपनी जांन गवा बैठे हैं. 

अधिकारियों का कहना है कि आतंकवादियों पर ह’मले करने के लिए अभी भी पूरे ऐरिया को कड़ी सुरक्षा से घेरा हुआ है. पूरे इलाके की निगरानी के लिए पैरा कमांडो व हेलीकॉप्टर तैनात किए गए हैं.

बताया जा रहा है कि पहाड़ी और घना जंगल होने की वजह से ऑपरेशन में काफी मुश्किलें आ रही है और काफी खत’रनाक भी है,पुंछ के सुरनकोट इलाके में 12 अक्टूबर को शुरू हुई मुठभेड़ में एक जेसीओ समेत सेना के पांच जवान शहीद हो गए थे. वहीं 14 अक्टूबर को दो जवान शहीद हुए थे फिर 16 अक्टूबर को एक अन्य जेसीओ और एक जवान के शहीद होने की खबर सामने आई थी.