गहलोत कैबिनेट के मंत्री गोविन्द सिंह का महिलाओं पर ऐसा बयान, बढ़ सकता है विवाद !

राजस्थान के शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने महिलाओं को लेकर ऐसी बाते कह दी हैं जिसको लेकर वह सुर्खियों में आज हैं। दरअसल महिला सशक्तीकरण पर आयोजित एक कार्यक्रम में शिक्षा मंत्री ने महिलाओं के बारे में चर्चा की जो की विवाद का मुद्दा बन सकता है। उन्होंने महिलाओं को लेकर बयान दिया की महिलाएं झगड़ालू स्वभाव की होती हैनौर यही वजह है कि वह पुरुषों से आगे नहीं निकल पाती।

गहलोत सरकर के शिक्षा मंत्री ने बताया की अक्सर उनके पास महिलाओं की रिपोर्ट आती है जिसमे उसमे झगडे का मुद्दा होता है। स्कूलों में अक्सर महिला स्टाफ छोटी-छोटी बातों को लेकर पुरुष स्टाफ से झगड़ा करने लग जाती हैं जिसकी वजह से स्कूल का माहौल खराब होता है। पुरुष स्टाफ और प्रधानाचार्य को इसका खामियाजा इतना भुगतना पड़ जाता है की उन्हें सर दर्द की दवा सैरीडॉन टेबलेट तक खानी पड़ती है। उनका कहना की सरकार महिलाओं के लिए तमाम योजनाएं ला रही है सरकार के लिए महिलाएं प्राथमिकता पर हैं ऐसे में उन्हें झगड़ा करने पर ध्यान न देते हुए आगे बढ़ने पर देना चाहिए।

महिलाओं के उपर बयान को लेकर इससे पहले कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री डॉ. के सुधाकर सुर्ख़ियों में आये थे जिनका कहना था आधुनिक भारतीय महिलाएं बच्चों को जन्म नहीं देना चाहती हैं उन्हें सेरोगेसी से बच्चे चाहिए। क्यूंकि आधुनिक भारतीय महिलाएं कुंवारी रहना चाहती हैं या फिर शादी के बाद भी बच्चों को जन्म नहीं देना चाहती हैं।