लखीमपुर में हाथ जोड़कर अपनी जिंदगी की भीख मांगता रहा ड्राइवर लेकिन भीड़ ने एक ना सुनी और कर दी बेरहमी से उसकी हत्या

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी जिला में रविवार को हुई अचानक घटना ने राजनीति मोड़ ले लियचा है. सब कुछ सामान्य था. किसानों का विरोध प्रदर्शन चल रहा था तभी शाम को अचानक से घटनाक्रम धधक उठा.दरअसल केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा के बेटे अशीष मिश्रा उर्फ मोनू और उसके समर्थकों ने प्रदर्शन कर रहे किसानों पर गाड़ियां चढ़ाने का आरोप लगा है. इसी दौरान किसानों के प्रदर्शन में शामिल कुछ तत्वों’ ने भाजपा के तीन कार्यकर्ताओं, एक चालक को पीट-पीट कर मार डाला है.

किसानों ने मोनू की गाड़ियों समेत तीन गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया. वहां पर मौजूद बाकी वाहनों को भी पलट दिया गया.ड्राइवर जिसको पीट पीटकर मार डाला वो हाथ जोड़कर अपनी जिंदगी की भीख मांगता रहा , लेकिन भीड़ ने उसकी बड़ी ही बेहरगमी से हत्या कर दी.फिलहाल सोशल मीडिया पर ड्राइवर का एक वाीडियो वायरल हो रहा है जिसमें उसके सिर से खून निकल रहा है वे डर से घबराया हुआ सामने खड़ी हुई भीड़ की तरफ देखता है तो कभी बाई और देखता है. उसके चहरे पर मौत का डर साफ-साफ दिखाई दे रहा है वह हाथ जोड़कर दादा दादा छोड़ दो विनती कर रहा है.

वहीं कुछ लोग उससे जबरदस्ती भुलवा रहे हैं कि कहों  टेनी ने भेजा था लेकिन गाड़ी चढ़ाने के लिए नहीं..। फिर कुछ लोग उसे डंडा दिखाते हैं और जबरन मनमानी बात कहने के लिए कहते हैं. वहीं जब ड्राइवर कुछ नहीं कहता है तो लोग डंडा लेकर टूट पड़ते हैं. ड्राइवर सबसे हाथ जोड़कर गिड़गिड़ाता रहता है लेकिन उसके बाद भी उसकी कोई नहीं सुनता है, वीडियो में कुछ लोगों की चिल्लाने की आवाज आ रही है कह रहे हैं मारो मारों….मार डालो सा…को’. इसके साथ ही वीडियों में लोगों की गालियां देने की आवाज भी आ रही है.